सूरत : भाजपा के वरिष्ठ नेताओं द्वारा एबीवीपी को मनाने के प्रयास विफल रहे, छात्रों का विरोध जारी रहा

दक्षिण गुजरात विश्वविद्यालय में पुलिस और छात्रों के बीच झड़प का मामला तुल पकड रहा है

वीर नर्मद दक्षिण गुजरात विश्वविद्यालय के अंदर पुलिस-छात्र की झड़प को लेकर एबीवीपी के विरोध प्रदर्शन के बाद भाजपा के कुछ वरिष्ठ नेताओं ने अब छात्रों से पूरे मामले को खत्म करने के लिए कहा है।

इससे पहले दिन में भाजपा नेताओं ने एबीवीपी से विरोध प्रदर्शन बंद करने का आह्वान किया था
वीर नर्मद दक्षिण गुजरात विश्वविद्यालय के अंदर पुलिस-छात्र की झड़प को लेकर एबीवीपी के विरोध प्रदर्शन के बाद भाजपा के कुछ वरिष्ठ नेताओं ने अब छात्रों से पूरे मामले को खत्म करने के लिए कहा है। फिर भी छात्र उनसे आगे निकल कर विरोध कर रहे हैं। एबीवीपी कार्यकर्ता ने नाम न छापने की शर्त पर कहा कि भाजपा नेताओं ने एबीवीपी को कल दोपहर के बाद ही विरोध प्रदर्शन बंद करने को कहा था और आश्वासन दिया था कि पूरे मामले पर कार्रवाई की जाएगी।  अब धरना बंद करने की बात कही जा रही है। 
एबीवीपी भारतीय जनता पार्टी की छात्र शाखा है। भाजपा शासन में विश्वविद्यालय परिसर में नवरात्रि के आयोजन को लेकर भाजपा की ही छात्र इकाई को पुलिस ने पीटा है। छात्रों को नवरात्रि आयोजन करने पर मार खाने का समय आया है और पुलिस द्वारा अभद्र भाषा में गाली गलोच कि  जा रही है। ऐसे परिस्थिति में भाजपा के कुछ नेता ही छात्रों का समर्थन कर रहे हैं तो कुछ छात्र और अब वे खुद सूझबूझ दिखाकर आंदोलन को नियंत्रित करने की कोशिश कर रहे हैं।  छात्र ने नाम न छापने की शर्त पर बताया कि कल कलेक्टर कार्यालय में आवेदन जमा करने के बाद हमें कहा गया था कि अब आप इस मामले को उठाएंगे नहीं।  हालांकि, जब हम उमरा पुलिस स्टेशन पहुंचे, तो हमें उन पुलिस कर्मियों के बारे में जानकारी मिली जिन्होंने उसके साथ दुर्व्यवहार किया था। भाजपा शासन में ही छात्रों में आंतरिक आक्रोश है कि पुलिस द्वारा एबीवीपी के छात्रों का पीछा किया जा रहा है और उन्हें पीटा जा रहा है। भाजपा के वरिष्ठ नेता हस्तक्षेप कर मामले को तत्काल पूरा करने पर जोर दे रहे हैं। 

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें