सूरत : कक्षा-12 विज्ञान संकाय में जिले का 71.07 प्रतिशत और शहर का 81.57 प्रतिशत परिणाम

कक्षा 12 विज्ञान संकाय का परिणाम देखते छात्र

वराछा के छात्रों ने फिर किया कमाल, सूरत में 12 विज्ञानों में सबसे ज्यादा वराछा जोन का रिजल्ट

विपरित परिस्थिति के बावजुद छात्रों और शिक्षकों की महेनत के कारण परिणाम अच्छा रहा 
सूरत में कोरोना की विकट स्थिति में  शहर के वराछा में रहने वाले सौराष्ट्र के कई हीरा मजदूरों की नौकरी चली गई, लेकिन इसका असर मेधावी छात्रों की पढ़ाई पर नही पड़ा। आज एचएससी विज्ञान के 12वीं के घोषित परिणाम में एक बार फिर वराछा के छात्रों ने कमाल दिखाया है। सबसे अच्छा परिणाम सूरत शहर के वराछा अंचल में देखने को मिला है। इनमें रत्नकलाकारों के बेटे-बेटियों ने ए-1 और ए-2 ग्रेड पास कर यह साबित कर दिया है कि शिक्षा किसी की जागीर नहीं है।
गुजरात स्टेट बोर्ड ऑफ सेकेंडरी एंड हायर सेकेंडरी एजुकेशन ने मार्च महीने में ली गई 12वीं साइंस स्ट्रीम की परीक्षा के लिए सूरत शहर और जिले का औसत परिणाम घोषित कर दिया है। सूरत शहर जिले की ही बात करें तो 71.07 प्रतिशत परिणाम रहा जिमसें सूरत शहर का रिजल्ट 81.57 प्रतिशत , वराछा में 87.73 प्रतिशत , रांदेर में 82.09 प्रतिशत , नानपुरा में 74.65 प्रतिशत और उधना में 62.38 प्रतिशत है। ग्रामीण क्षेत्रों में बारडोली का 65.94 फीसदी, कामरेज का 77.34 फीसदी,  मांडवी का 53.02 फीसदी और वांकल का 57.50 फीसदी परिणाम रहा।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें