राजकोट : वैक्सीन के प्रति लोगों को जागरूक करने के लिए तंत्र ने ली तांत्रिकों की मदद, तंत्रिकों के दरबार में ही लगाई लोगों को वैक्सीन

(Photo Credit : divyabhaskar.co.in)

आरोग्यतंत्र की बात ना मानने वाले सभी लोगों ने तांत्रिक के एक बार कहने पर लगाई वैक्सीन के लिए लाइन

देश भर में एक और जहां कोरोना वैक्सीन का महाअभियान चलाया जा रहा है, वहीं दूसरी और अभी भी कई जगहों पर वैक्सीन को लेकर लोगों में काफी अंधश्रद्धा देखने मिल रही है। ऐसे में राजकोट के आरोग्यतंत्र ने लोगों को वैक्सीन लेने के लिए जागरूक करने के लिए एक अनोखा रास्ता अपनाया था। तंत्र द्वारा एक तांत्रिक की मदद से लोगों को वैक्सीन लेने के लिए समझाया गया था। तंत्र का यह आइडिया काफी सफल भी रहा था। 
राजकोट के वींछिया गाँव में तांत्रिकों ने गाँव वालों को नवरात्रि के दौरान कोरोना टीकाकरण करवाने के लिए समझाया था। सबसे हैरानी की बात तो यह है कि पिछले 6 महीनों से जब तंत्र के कर्मचारी इन्हीं लोगों को टीकाकरण करवाने के लिए समझा रहे थे, तब यह नागरिक टीका लगवाने को तैयार नहीं हुये। पर तांत्रिक की मात्र एक आवाज पर लोगों की भीड़ टीका लेने के लिए पहुँच गई थी।  लोगों को टीका लगवाने के लिए जागरूक करने के लिए जब तंत्र के लोगों ने सभाएं आयोजित की तो उन्हें पता चला की लोगों की मानसिकता और सोच पर स्थानीय तांत्रिकों का काफी प्रभाव है, इसके चलते उन्होंने यह योजना बनाई। उल्लेखनीय है की नवरात्रि के इस समय में तांत्रिकों के दरबार में माता के भक्तों की काफी भीड़ लग रही है। ऐसे में उनके द्वारा समझाने के बाद लोगों ने बड़ी आसानी से वैक्सीन ले ली थी।
इस तरह के प्रयोग से कम वैक्सीनेशन वाले गाँव जैसे की देवधरी, ओरी, समढ़ीयाल जैसे गांवों में तांत्रिकों ने मिलकर नवरात्रि के दौरान माता ने वैक्सीन लेने की अनुमति दी होने की बात कहकर लोगों को वैक्सीन लेने के लिए प्रोत्साहित किया था। इस प्रयोग के तहत गाँव के 70 से अधिक बुजुर्गों ने वैक्सीन का पहला डोज़ लिया था। जिला विकास अधिकारी देव चौधरी ने कहा की जिले में कोई भी कोरोना वैक्सीन लेने से रह न जाए इस बारे में लगातार प्रयास किए जा रहे है।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें