राजकोट : 6000 युवाओं को मिलेगा मुख्यमंत्री अप्रेंटिसशिप योजना का लाभ

(Photo : tv9gujarati.com)

जिला कलेक्टर ने जिले के उद्योग और सेवा क्षेत्र से जुड़े विभाग के अधिकारियों के साथ की बैठक

राजकोट के जिला कलेक्टर अरुण महेश बाबू ने मुख्यमंत्री शिक्षुता (अप्रेंटिसशिप ) योजना के तहत राजकोट जिले में अधिक से अधिक युवाओं को रोजगार प्रदान करने के लिए जिले के उद्योग और सेवा क्षेत्र से जुड़े विभाग के अधिकारियों के साथ बैठक की और लगभग 6,000 युवाओं को रोजगार प्रदान करने का आदेश दिया।
जानकारी के अनुसार, जिला कलेक्ट्रेट में आयोजित बैठक में उद्योग एवं सेवा क्षेत्र से जुड़े विभाग के अधिकारियों को उद्योगों, ठेकेदारों एवं विभिन्न एजेंसियों के माध्यम से विभिन्न सरकारी योजनाओं के तहत युवाओं को रोजगार उपलब्ध कराने के निर्देश दिये गये। जिले के 6,000 से अधिक युवाओं को अप्रेंटिस प्रदान करने की संशोधित योजना के तहत अधिकारियों से चर्चा की गयी। आपको बता दें कि राज्य सरकार ने गुजरात में स्थानीय युवाओं को अधिक रोजगार प्रदान करने के उद्देश्य से योजना में प्रशिक्षुओं को रखने के लिए नियोक्ताओं के लिए आकर्षक प्रोत्साहन भी दिया है। युवाओं को प्रशिक्षण के साथ-साथ रोजगार पाने के लिए 5000 रुपये से 9000 रुपये तक का वजीफा मिलता है।
कोरोना महामारी के दौरान अपनी नौकरी गंवाने वाले युवा भाई-बहनों को रोजगार देने के उद्देश्य से इस बैठक में कलेक्टर ने राज्य सरकार द्वारा शुरू की गई नई इकाइयों से परामर्श करके लक्ष्य के अनुसार कार्रवाई करने के निर्देश दिए। इस बैठक में मुख्यमंत्री अप्रेंटिसशिप योजना के नोडल अधिकारी एवं आईटीआई के प्रधानाचार्य निपुण रावल ने जिले के लक्षित कार्य, सरकार के प्रावधान, नई कवर की गई इकाइयों और इस कार्य के लिए हेल्पडेस्क की जानकारी दी। साथ ही बैठक में जिला विकास अधिकारी देव चौधरी, उप नगर आयुक्त आशीष कुमार, रेजिडेंट अपर कलेक्टर केतन ठक्कर, डीआरडीए निदेशक जे के पटेल सहित शिक्षुता योजना से संबद्ध विभिन्न कार्यालयों के अधिकारी उपस्थित थे।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें