कोरोना महामारी के कारण बंद हुई स्कूलें तो सब्जी बेचने लग गए चार वैन के मालिक

(Photo Credit : khabarchhe,com)

ड्राईवर सहित अपने सभी लोगों की सहायता की

कोरोना वायरस के कारण कई लोगों को तकलीफ़ों का सामना करना पड़ रहा है। हालांकि सबसे ज्यादा यदि किसी को तकलीफ हुई है तो वह है स्कूल से जुड़े लोगों को। राज्य में बढ़ रहे केसों के कारण सरकार द्वारा विभिन्न प्रतिबंध लगाए गए है। जिसमें से एक है स्कूलों का बंद होना, हालांकि स्कूलों के बंद होने से उससे जुड़े लोगों को भी काफी आर्थिक समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है। 
ऐसे में आज हम अहमदाबाद के रहने वाले एक ऐसे व्यक्ति कि बात करने जा रहे है। जिसने इस कठिन काल में भी अपना धैर्य नहीं खोया और कठिन महामारी में भी अपना दायित्व पूर्ण कर रहे है। अहमदाबाद के रानीप इलाके में रहने वाले विक्रम पटेल वैसे तो चार-चार वैन के मालिक है, पर स्कूलों के बंद हो जाने के कारण उनका धंधा भी ठप्प हो गया था। महामारी के पहले स्कूलों के शुरू होने पर उन्हें अन्य ड्राईवर को भी रखना पड़ता था, पर महामारी के समय से उनकी सभी वैन घर पर पड़ी है। 
खुद चार-चार वैन के मालिक होने के बावजूद विक्रम पटेल बेरोजगार हुए थे। हालांकि उन्हों ने हार नहीं मानी और खुद ही अपने साथी ड्राईवर के साथ मिलकर नया शूर किया। विक्रम पटेल ने खुद ही अपने ड्राइवर को रिक्शा लेकर दी और उसे उसको चलाने के लिए दिया। यही नहीं एक अन्य ड्राईवर के लिए टेम्पो  चलाने के काम कि सेटटिंग भी कर दी। जबकि एक कर्मचारी गाँव चला गया था।इसके अलावा खुद के लिए उन्होंने अपने परिवार का गुजारा करने के लिए सब्जी बेंचना शूरू कर दिया। कहते है ना कि जहां चाह वही राह।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें