ओलंपिक काउंटडाउन : भारतीय मुक्केबाज टोक्यो में अधिक पदक जीतने के लिए तैयार

(Photo Credit : IANS)

पाँच पुरुष और चार महिला मुक्केबाजों ने किया क्वालीफाई

मुंबई, 8 जुलाई (आईएएनएस)| भारत के पांच पुरुष और चार महिला मुक्केबाजों ने टोक्यो ओलंपिक के लिए क्वालीफाई किया है और ये सभी ओलंपिक में अधिक पदक जीतने के लिए तैयार हैं। भारत की तरफ से विजेंदर सिंह ने 2008 ओलंपिक में कांस्य और एमसी मैरीकॉम ने 2012 ओलंपिक में कांस्य पदक जीता था। इस बार कई मुक्केबाज इन खेलों में हिस्सा ले रहे हैं और एक से अधिक पदक जीतने की कोशिश करेंगे।
इस बीच, भारतीय टीम के हाई परफॉरमेंस निदेशक साटिआगो निएवा ने कहा कि उम्मीदों का भार मुक्केबाजों पर नहीं पड़ेगा, क्योंकि इन्होंने पिछले कुछ वर्षों में अच्छा प्रदर्शन किया है और इन्हें अपनी क्षमता पर पूरा भरोसा है। निएवा ने आईएएनएस से कहा, "हमें पता है कि इनसे उम्मीदें काफी ज्यादा हैं और हमें भी काफी उम्मीदें हैं। हमारे मुक्केबाजों ने पिछले कुछ चैंपियनशिप में उच्च स्तर पर प्रदर्शन किया है और महिला तथा पुरुष दोनों वर्गों में पदक जीते हैं।"
इस बीच, सभी की निगाहें एक बार फिर छह बार की विश्व चैंपियन मैरीकॉम पर होंगी जो महिला फ्लाइवेट 51 किग्रा में भारत की चुनौती पेश करेंगी और लंदन ओलंपिक 2012 के बाद दूसरा ओलंपिक पदक जीतना चाहेंगी। विश्व रैंकिंग में तीसरे स्थान पर मौजूद मैरीकॉम रियो ओलंपिक के लिए क्वालीफाई नहीं कर सकी थीं। वह 38 वर्ष की हो चुकी हैं और उनको लगता है कि ओलंपिक में एक और पदक जीतने का यह उनका आखिरी मौका होगा। गत एशिया चैंपियन पूजा रानी मिडल वेट 78 किग्रा में भारत की मजबूत दावेदार हैं। इनके अलावा 2018 विश्व चैंपियनश्पि की कांस्य पदक विजेता सिमरनजीत कौर और लोवलिना बोरगोहेन (वेल्टरवेट 69 किग्रा) अन्य महिला मुक्केबाज हैं जिनसे पदक लाने की उम्मीद होगी।
पुरुष वर्ग में विकास कृष्णा यादव (69 किग्रा), 2019 विश्व रजत पदक विजेता अमित पंघल (52 किग्रा), 2014 एशिया खेलों के कांस्य पदक विजेता सतीश कुमार (प्लस 91 किग्रा), 2018 राष्ट्रमंडल खेलों के उपविजेता मनीष कौशक (63 किग्रा) और आशीष कुमार (75 किग्रा) भार वर्ग में अपनी चुनौती पेश करेंगे। सभी नौ मुक्केबाज अच्छी फॉर्म में हैं और इन्होंने टोक्यो ओलंपिक से पहले हुए अन्य टूर्नामेंट में बेहतर प्रदर्शन किया है। इस साल मई में दुबई में हुई एएसबीसी एशिया मुक्केबाजी चैंपियनशिप में भारत ने दो स्वर्ण, पांच रजत और आठ कांस्य सहित कुल 15 पदक जीते थे। इसके कुछ महीने पहले दिसंबर 2020 में बॉक्सिंग विश्व कप में भारत तीन स्वर्ण पदक के साथ नौ पदक जीते थे।
यह पहली बार है जब भारत की तरफ से इतने मुक्केबाजों ने क्वालीफाई किया है।
(Disclaimer: यह खबर सीधे समाचार एजेंसी की सिंडीकेट फीड से पब्लिश हुई है। इसे लोकतेज टीम ने संपादित नहीं किया है।)


इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें