इंटीरियर डिजाइनींग छोडकर यह युवक बेचने लगा दूध, आज कर रहा है लाखों की कमाई

(Photo Credit : zeenewsindia.com)

2 गायों से गौशाला शुरू करने वाले चेतन भाई के पास है आज 25 गिर गाय, पहले ही साल की सात लाख के दूध की बिक्री

भारत सहित पूरे विश्व में कोरोना ने अपना कहर ढाया हुआ है। महामारी के कारण हुए लोकडाउन के बाद से ही लोगों को आर्थिक परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। हालांकि इसके बाद भी कई लोगों ने परिस्थिति के खिलाफ लोहा लेकर अपनी सफलता को अपने कदमों में लाकर खड़ा किया था। अहमदाबाद के चेतन पटेल का किस्सा भी कुछ ऐसा ही है। 
मूल कड़ी के और फिलहाल मेढ़ा गाँव में रहने वाले चेतन पटेल ने अपने गाँव में मेढ़ा गाँव में राधेकृष्ण गिर गौशाला स्थापित की है। चेतन भाई पेशे से इंटीरियर डिजाइनर है। पिछले 7 साल से वह यह काम कर रहे थे, पर कोरोना काल में उनका बिजनेस बंद हो गया। जिसके चलते उन्होंने अपने मित्र जिज्ञेश शाह के साथ मिलकर गौशाला शुरू की थी। पहले ही साल में चेतन भैया ने सात लाख के ओर्गेनिक दूध और घी की बिक्री की थी। चेतन भाई ने शुरुआत 2 गिर गाय से की थी, पर आज उनके पास 25 गिर गया है।   
(Photo Credit : zeenewsindia.com)
चेतन भाई खुद ही अपने ग्राहकों तक दूध पहुँचते है। गाय को अपने घर के सदस्य, अपनी माता जैसा ही मानकर वह उनकी सेवा करते है। गौशाला में चेतन भाई स्वच्छता का भी काफी ख्याल रखते है। चेतन भाई की माता कैलाशबेन तथा पिता जयंतीभाई तथा उनके भाई और भाभी भी उनकी इस काम में सहायता करते है। गायों का दूध निकालने के लिए भी चेतन भाई आज भी हाथ का इस्तेमाल ही करते है। दूध निकालने के बाद वह दूध की डिलिवरी करने के लिए निकलते है। गौशाला को जंतुओं से दूर रखने के लिए शेड की चारों और मच्छरजाली लगाकर उसे सुरक्षित किया गया है। 
इसके अलावा भी चेतन भाई ने और भी कई सुविधा की है। गायों के पानी पीने के लिए ओटोमेटिक रिफिलिंग सुविधा बनाई गई है। चेतन भाई कहते है गाय के दूध में काफी पॉज़िटिव एनर्जी होती है। गिर गाय का दूध सर्वश्रेष्ठ माना जाता है। जहां एक और ओर्गेनिक के नाम पर लोग उटपटांग चीजें बेच रहे है। वहीं दूसरी और चेतनभाई शुद्ध दूध और घी लोगों को दे रहे है। यही कारण है कि दिन-प्रतिदिन उनके ग्राहकों में भी इजाफा देखने मिल रहा है। 

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें