जम्मू : 124 साल की वृद्धा ने ली कोरोना वैक्सीन

(Photo Credit : twitter.com)

पुत्र के राशन कार्ड पर दर्ज जानकारी के आधार पर पता चली महिला की उम्र, आधिकारिक दस्तावेज ना होने से नहीं हो पाई उम्र की पुष्टि

देश भर में कोरोना के संक्रमण को रोकने के लिए टीकाकरण कार्य में तेजी लाई गई है। ऐसे में बुधवार को जम्मू एंड कश्मीर के बारामुला में से एक 124 साल की महिला ने कोरोना का टीका लगवाये होने की बात सामने आई है। हालांकि अधिकारियों ने बताया कि महिला ने अपना कोई भी पहचान पत्र नहीं दिखाया। बुधवार को हेल्थकेर और फ्रंटलाइन वर्कर्स ने जम्मू के 20 जिलों में टीकाकरण किया गया था। बुधवार को लगाए गए 9289 लोगों के साथ अब तक पूरे केंद्रशासित प्रदेश में 33 लाख से भी अधिक लोगों ने टीका लगवा लिया है। 
अधिकारियों ने कहा कि बुधवार को जिन लोगों ने टीका लगवाया है उनमें से बारामुला जिले की एक बुजुर्ग भी शामिल थी। जम्मू एंड कश्मीर के डिपार्टमेंट ऑफ इन्फोर्मेशन एंड पब्लिक रिलेशन ने एक ट्वीट कर के जानकरी दी की उन्होंने एक महिला का टीकाकरण किया था, जिसकी उम्र 124 साल की थी। यदि इस आधिकारिक स्टेटमेंट को माना जाये तो यह महिला दुनिया में फिलहाल सबसे उम्रदराज जीवित महिला है। 
बता दे की गिनीज़ बुक ऑफ वर्ल्ड रिकोर्ड्स के अनुसार, फिलहाल दुनिया की सबसे उम्रदराज जीवित महिला जापान की केन तनाका है जो की 118 साल की है। इसके अलावा सबसे अधिक जीने का रेकॉर्ड फ्रांस की जेनी लुईस कलमेंट के नाम है, जो 122 साल और 164 दिन तक जिंदा रही थी। महिला की उम्र की जानकारी उसके पुत्र के राशन कार्ड में दर्ज उम्र के आधार पर पता चला। हालांकि महिला के परिवार के द्वारा महिला की उम्र का कोई आधिकारिक प्रूफ नहीं दिया गया था। 
वागोरा के ब्लॉक डेवलपमेंट ऑफिसर अब्दुल राशिद गानी ने कहा की किसी आधिकारिक दस्तावेज़ के ना होने के कारण वह महिला के उम्र की पुष्टि नहीं कर पाये थे। टीकाकरण के बारे में बात करते हुये उन्होंने बताया की अधिक से अधिक टीकाकरण के लक्ष्य को हासिल करने के लिए उन्होंने डोर-टू-डोर टीकाकरण शुरू किया था। जब अधिकारियों ने उनसे उनकी उम्र के बारे में पूछा तो महिला ने बताया की वह बस इतना जानते है की वह 100 साल से अधिक उम्र की है। पर इसके अल्वा वह और कुछ भी नहीं जानती।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें