सूरत नगर निगम द्वारा भूखंडों की बिक्री के पीछे शासकों का गैरजिम्मेदाराना रवैया जिम्मेदार: विपक्ष

सूरत नगर निगम द्वारा भूखंड आवंटन के मुद्दे पर विपक्षी पार्टी आप ने बैनर होर्डिंग लगाकर विरोध किया

सूरत महानगरपालिका की आर्थिक स्थिति खस्ताहाल होने पर भुखंडों की बिक्री की तैयार करने का विपक्षी दल द्वारा विरोध करने के साथ बैनर लगाए गए।

नगर पालिका द्वारा भूखंड आवंटन के मुद्दे पर विपक्षी पार्टी आप ने बैनर होर्डिंग लगाकर विरोध किया 
सूरत महानगरपालिका द्वारा शहर के अलग अलग क्षेत्रों में भुखंड 99 साल के लिज पर देने आयोजन का विपक्षी दल आम आदमी पार्टीने विरोध किया। पालिका में पिछले 27 सालों से भाजपा का शासन है इस दौरान शासकों की प्रशासनीक गैर जिम्मेदारी के कारण आज प्लोट बेचने की नौबत आयी है। यह प्लोट अगर कोई खरीदेगा और प्रकल्प साकारीत करेगा तो आम आदमी पार्टी उसका शहरहित में विरोध करेगी। 
सूरत महानगरपालिका में  विपक्षी नेता धर्मेश भंडेरी ने कहा कि शहरवासियों ने समय पर अपना टेक्स जमा किया जिसके फलस्वरूप एक समय सूरत पालिका के अबजो रुपये बेंकों में फिक्स डिपोजीट के रूप में जमा रहती थी। भाजपा शासकों ने महानगरपालिका को न‌िजि पेढी के रूप में कार्यभार करके अपने कार्यकर्ता, और समर्थकों के लाभार्थ महानगरपालिका का आर्थिक नुकसान किया। इसके अलावा सूरत की जकात की आय 2006 में बंद हुई थी तभी हर साल 10 से 20 प्रतिशत की वृद्दि होती थी। जकात बंद होने के बाद राज्य सरकार ने प्रति वर्ष 700 करोड की ही ग्रांट जारी रखी है उसमें हर साल की वृध्दि को जोडा जाए तो आज 1800 करोड रूपये ग्रांट राज्य सरकार से सूरत को मिलनी चाहिए। मगर इतने सालों में भाजपा शासकों ने राज्य सरकार से ग्रांट बढ़ाने के लिए मांग नही की। जिसके कारण आज महानगरपालिका की तिजोरी खाली होने लगी तो शासक पालिका के प्लोट बेचने चले है। मिलकत बेचने से कायमी समाधान नही हो पायेगा इस लिए राज्य सरकार से जकात के बदले वृध्दि के साथ ग्रांट मांगनी चाहिए। 
विपक्षी नेता ने कहा की पालिका के प्लोट खरीदनेवालों से विनंती करती है की शहर हित में प्लोट ने खरीदे। अगर पालिका बहुमत के जोर पर भुखंडों की निलामी करती है तो आम आदमी पार्टी उस प्लोट को खरीदनेवाले का विरोध करेगी और उस भुखंड पर कोई प्रोजेक्ट साकारीत नही होने देगी ऐसी चेतावनी दी है। भाजपा शासक अपने चहिते बिल्डरों को कम दामों पर सोने से भी महंगे प्लोट बेचने का आयोजन कर रही है। 

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें