बहुचर्चित रणजीत सिंह हत्याकांड मामले में गुरमीत राम रहीम सिंह समेत पांचों दोषियों को उम्रकैद की सजा

(Photo Credit : twitter.com)

पंचकूला की विशेष सीबीआई अदालत ने मामले में 19 साल बाद सुनाई सजा

पंचकूला की विशेष सीबीआई अदालत ने डेरा सच्चा सौदा के पूर्व प्रबंधक बहुचर्चित मर्डर केस यानी रणजीत सिंह हत्याकांड मामले में 19 साल बाद डेरामुखी गुरमीत राम रहीम सिंह समेत पांचों दोषियों को उम्रकैद की सजा सुनाई। अदालत ने राम रहीम पर 31 लाख रुपये का जुर्माना लगाया। वहीं बाकी अन्य चार दोषियों पर 50-50 हजार रुपये का जुर्माना लगाया है। जुर्माने की आधी राशि पीड़ित परिवार को दी जाएगी। फैसले के खिलाफ राम रहीम हाईकोर्ट जाएगा।
आपको बता दें कि रणजीत सिंह हत्याकांड के मुख्य दोषी डेरामुखी गुरमीत राम रहीम प्रत्यक्ष रूप से नहीं बल्कि वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए सीबीआई कोर्ट में पेश किया गया, जबकि अन्य चार दोषी कृष्ण कुमार, अवतार, जसवीर और सबदिल को पुलिस ने कड़ी सुरक्षा में कोर्ट में प्रत्यक्ष रूप से पेश किया गया। गुरमीत राम रहीम को इस मामले में अदालत पहले ही दोषी ठहरा चुकी थी, लेकिन अदालत ने उस समय उसकी सजा की घोषणा नहीं की थी। राम रहीम नन से रेप और पत्रकार की हत्या के मामले में पहले से ही जेल की सजा काट रहा है। डेरा सच्चा सौदा के पूर्व प्रबंधक रंजीत सिंह हत्याकांड के तीन दोषियों की दलीलें पंचकूला स्थित सीबीआई की विशेष अदालत में पूरी हुईं।
जानकारी के लिए बता दें कि 12 अक्टूबर को हुई सुनवाई के दौरान गुरमीत राम रहीम और कृष्णलाल की दलीलें पूरी हुईं. वहीं, आज की कार्यवाही के दौरान जसबीर, सबदिल और अवतार की दलीलें भी पूरी हो गई हैं। जिसके बाद सीबीआई की विशेष अदालत ने रंजीत हत्याकांड में सजा का ऐलान किया है। डेरा सच्चा सौदा के गुरमीत राम रहीम पर भी 31 लाख रुपये और अन्य आरोपियों पर 50-50 हजार रुपये का जुर्माना लगाया गया है।
मामले की बात करें तो 10 जुलाई 2002 को कुरुक्षेत्र के रहने वाले और डेरा सच्चा सौदा के मैनेजर रणजीत सिंह की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। राम रहीम इसी डेरे का प्रमुख है। रणजीत सिंह के बेटे जगसीर सिंह ने जनवरी 2003 में हाईकोर्ट में याचिका दायर कर मामले की सीबीआई जांच की मांग की थी। हाईकोर्ट ने बेटे के पक्ष में फैसला सुनाकर मामले की जांच सीबीआई को सौंपी थी। सीबीआई ने राम रहीम समेत पांच लोगों के खिलाफ केस दर्ज किया था।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें