पति-पत्नी एक साथ हुये कोरोना संक्रमित, पत्नी की मौत होने पर गम में पति भी चल बसा

प्रतिकात्मक तस्वीर (Photo Credit : Pixabay.com)

पत्नी की मौत की खबर सुनकर लग गया था सदमा, 24 घंटे में पति-पत्नी दोनों की हुई मौत

माना जाता है की पति और पत्नी का रिश्ता सात जन्मों का होता है। कई बार ऐसा सुनने में आया है कि पति के मृत्यु के गाम में पत्नी की मौत हो गई हो या दोनों ने एक साथ ही मृत्यु के दरवाजे दस्तक दी हो। कुछ ऐसा ही एक केस वडोदरा में सामने आया था, जहां पत्नी की मौत का समाचार सुनने के बाद पति से उसका गम सहा नहीं गया और वह भी चल बसा। 
विस्तृत जानकारी के अनुसार, वडोदरा के कारेलीबाग के इलाके के विराटनगर में मनी सोलंकी नामक 66 वर्षीय बुजुर्ग अपने परिवार के साथ रहता था। पिछले 35 साल से वह वडोदरा के जीवनभारती स्कूल के पास चाय की लारी चला रहे थे। कुछ दिन पहले ही मनी सोलंकी और उनकी पत्नी मंगु सोलंकी एक साथ कोरोना संक्रमित हुए थे। जिसके चलते दोनों को सयाजी हॉस्पिटल में दाखिल किया गया। 
अस्पताल में कुछ दिनों के इलाज के बाद मनी सोलंकी की तबीयत में सुधार आया था, जिसके चलते उन्हें डिस्चार्ज कर घर में ही क्वारंटाइन कर दिया गया था। दूसरी और मंगु सोलंकी की तबीयत में कोई भी बदलाव नहीं आ रहा था। डॉक्टरों के कई प्रयास के बाद भी उनकी तबीयत नहीं सुधर रही थी और अंत में कोरोना के कारण ही उनकी मौत हो गई। 
मंगु सोलंकी की मौत की खबर उनके परिवार वालों को दी गई। पत्नी की मृत्यु के समाचार सुनते ही मनी सोलंकी को काफी बड़ा सदमा लगा था। शाम को चाय पीते-पीते अचानक वह बेहोश हो गये, जिसके चलते तुरंत ही उन्हें फिर से सयाजी अस्पताल ले लेकर आया गया। जहां इलाज के दौरान उनकी मृत्यु हो गई। बाद में जब मनी सोलंकी का फिर से रिपोर्ट किया गया तो वह भी कोरोना पॉज़िटिव थे। जिसके चलते अस्पताल द्वारा दोनों की अंतिमविधि कोरोना की गाइडलाइन के अनुसार की गई थी। पत्नी की मौत के 24 घंटे के भीतर ही मनी सोलंकी ने भी अपने प्राण त्याग दिये, जिसके कारण अब परिवार में दोहरे दुख का माहौल बना हुआ है। 

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें