गुजरात के गृह राज्य मंत्री हर्ष संघवी की दो टूक : कोई मुस्तुफा महेश बन कर प्रेम करेगा तो बर्दाश्त नहीं किया जायेगा!

गुजरात प्रदेश के गृह राज्य मंत्री हर्ष संघवी (फाईल तस्वीर)

ई-एफआरआई के जागरूकता कार्यक्रम में मौजूद हर्ष सांघवी ने कई मुद्दों पर चर्चा की, हर्ष सांघवी ने नशीले पदार्थ और जीएसटी पर भी की बात

गुजरात में लव जिहाद  गंभीर समस्या बनी हुई है। आये दिन इस मुद्दे को लेकर राजनीतिक माहौल गरमा जाता हैं। अब गुजरात में चुनाव होने वाले है और एक बार फिर लव जिहाद का मुद्दा गरमा गया है। इस मामले में पाटीदार नेताओं ने भी नाराजगी जताई है। अब गृह मंत्री हर्ष सांघवी ने भी इस मामले पर प्रतिक्रिया दी है। एबीपी अस्मिता की एक रिपोर्ट के अनुसार उन्होंने कहा कि प्यार करने का हक हर किसी को है। लेकिन अगर कोई मुस्तफा महेश बनकर किसी हिन्दू लड़की से प्यार करता है, तो उसे छोड़ा नहीं जायेगा। गौरतलब है कि कई जगह ऐसे मामले सामने आए हैं जहां धर्म विशेष के  युवक नाम बदलकर लड़कियों को बरगला रहे हैं। इसे लेकर आज गृह मंत्री हर्ष सांघवी बात की है।
आपको बता दें कि ई-एफआरआई के जागरूकता कार्यक्रम में मौजूद हर्ष सांघवी ने कई मुद्दों पर चर्चा की। उन्होंने कहा कि पहली चुनावी सभा सूरत में इसी जगह से हुई थी। उन्होंने कहा कि 26 साल की उम्र में 2012 का पहला चुनाव लड़ा था। आगे उन्होंने कहा लोगों ने मुझे गुजरात में चौथी सबसे बड़ी बढ़त के साथ जिताया। इसके अलावा  शराब को लेकर उन्होंने कहा कि पुलिस इस मामले में काम कर रही है। पिछले 1 साल में 5 हजार करोड़ रुपये की नशीला पदार्थ जब्त किया गया है। गुजरात पुलिस ने पंजाब, दिल्ली, महाराष्ट्र, राजस्थान जाने वाली इस दवा पर रोक लगा दी है। नशे के मुद्दे पर राजनीति नहीं होनी चाहिए। इस तरह की हल्की राजनीति देश की एकता को तोड़ रही है।
हर्ष संघवी ने आगे जीएसटी पर बात करते हुए कहा कि अब देश चलाने का सपना देखने वालों ने अब गरबा जीएसटी पर जोर पकड़ लिया है। जीएसटी 2017 से पहले लागू हुआ था। इस नियम के बाद महँगे योजनाएं, आस्था और सांस्कृतिक कार्यक्रम से जुड़े रूप रेखा  बदल गई हैं। जिन आयोजन के लिए टिकट लिए जाते हैं। अगर प्रति टिकट की दर 500 रुपये है तो पहले वैट लगता था और अब जीएसटी लगता है। गुजरात का गरबा हमारी आस्था है। गरबा की आस्था पर राजनीति करना ठीक नहीं है।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें