गुजरात : जब पड़ोसी ने देखी दादी-पोते ही लाश, हत्याकांड में ये हुआ खुलासा

(Photo Credit : IANS)

बेटे ने आरोपी की पत्नी को भगाया इसलिए बदला लेने के लिए कर दी हत्या

बनासकांठा के शिहोरी गांव में आज दिनदहाड़े दादी और पोते की हत्या कर दी गई। इस हत्याकांड में पुलिस ने चंद घंटों में ही आरोपी को पकड़ कर मामले को रफा-दफा कर दिया और पूरे हत्याकांड का पर्दाफाश कर दिया। आरोपी घर में दादी और पोते की हत्या कर फरार हो गया। शिहोरी पुलिस समेत डॉग स्कोड व एफएसएल की टीम मौके पर पहुंची और अज्ञात हत्यारों का पता लगाकर उसे जेल के हवाले कर दिया।
बता दें कि आरोपी से गहन पूछताछ के बाद मुकेश कांजीभाई रावल ने कबूल किया कि मृतक सुशीलाबेन के बेटे ने आठ महीने पहले उसकी पत्नी का अपहरण कर लिया था। ऐसे में उसने बदले में आकर ऐसा काम किया। इसी के साथ पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया। एवीपी लाइव न्यूज़ द्वारा मिली जानकारी के अनुसार यह घटना कांकराज तालुका के शिहोरी गांव में रामजी मंदिर के पास एक आवासीय घर में हुई जहां एक बुजुर्ग महिला सुशीलाबेन साधु (उम्र 47) और पोते धर्मिक (उम्र 6) की हत्या कर दी गई। चिरागभाई साधु अपनी पत्नी के साथ सूरत में काम करते हैं और उनके बेटे धर्मिक और मां सुशीलाबेन जो शिहोरी में रामजी मंदिर के पास रहते थे।। इस बीच चिरागभाई ने आज अपने मोबाइल पर फोन कर अपनी मां और बेटे का पता लगाया, लेकिन बार-बार फोन करने के बावजूद कोई जवाब नहीं मिला। चिरागभाई ने पास में रहने वाले अपने रिश्तेदारों को फोन किया और अपनी मां को सूचित करने के लिए कहा।
इसके बाद जब जाँच की गई तो सुशीलाबेन और उनके पोते धर्मिक घर के रास्ते में मृत पाए गए थे और आसपास रहने वाले अपने रिश्तेदारों को घटना की सूचना दी थी। शिहोरी में मंदिर के पास भीड़भाड़ वाले इलाके में दिनदहाड़े अपनी दादी और पोते की धारदार हथियार से बेरहमी से हत्या करने के बाद आरोपी जब फरार हो गया। मुकेश रावल की पत्नी उमंग को मुकेश रावल घर ले आए और मुकेश रावल ने बार-बार घर आकर जान से मारने की धमकी दी। परिजनों ने उसके खिलाफ शिकायत दर्ज कराई थी। शिकायत के आधार पर पुलिस ने घंटों के भीतर आरोपी को गिरफ्तार कर लिया और अपराध को सुलझा लिया।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें