गुजरात : उत्तरायण के पहले ही दो अलग-अलग घटनाओं में पतंग की डोरी के कारण दो लोग घायल

उत्तरायण में पतंग की डोरी के कारण होते है बहुत से हादसे, कई लोगों को गवानी पड़ती है जान

कहा जाता है कि उत्तरायण खुशियों का त्योहार है, लेकिन यह खुशी कई लोगों के लिए मौत की घंटी भी है। हर साल उत्तरायण के दिन कई लोगों की मौत डोरी से हो जाती है। इस साल तो उत्तरायण के करीब एक सप्ताह पहले  ही दो लोग पतंग के ढोरे से गंभीर रूप से घायल हो गए हैं। लोग भले ही इन रस्सिओं से बचने के लिए अपने वाहनों के आगे रॉड लगा लेते है पर फिर भी हर साल उत्तरायण के दिनों में कई लोगों की गला काटने से मौत हो जाती है तो वहीं कई लोग बुरी तरह घायल जो जाते है।
आपको बता दें कि एक बार फर बारडोली से इसी तरह की घटना से लोगों में दहशत का माहौल है। पिछले कई सालों से बारडोली में काम कर रहे प्रवीणभाई पटेल का पिछले शुक्रवार को काम पर लौटते समय एक्सीडेंट हो गया था। ये दुर्घटना तब हुई जब वो गांधी रोड से गुजर रहे थे और उनके मुंह पर पतंग की डोरी आ गिरी। इससे वो स्टीयरिंग व्हील से नियंत्रण खो बैठे और दुर्घटनाग्रस्त हो गए। हादसा इतना भीषण था कि पैर गंभीर रूप से जख्मी हो गया और पैर की हड्डी बाहर निकल आई। स्थानीय लोगों ने तुरंत प्रवीणभाई को इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया।
ऐसी ही एक और घटना बारडोली के बबन गांव में हुई। धावत गांव निवासी कैलाशभाई दोपहर के समय मोटरसाइकिल पर अपना सामान लेकर गुजर रहे थे। तभी अचानक एक पतंग उसकी गर्दन पर से गुजरी और इससे उनकी गर्दन कट गई। गंभीर दुर्घटना के बाद स्थानीय लोगों ने रैली की और कैलाशभाई को तत्काल इलाज के लिए अस्पताल ले जाया गया। पतंग की डोरी के कारण कैलाशभाई के गले में 24 टका लग गया।
गौरतलब है कि आजकल जब उत्तरायण का पर्व नजदीक आ रहा है तो ऐसे समय में आने वाली दुर्घटना से बचाने के लिए  सभी बाइक चालकों को हेलमेट के साथ-साथ गले में बेल्ट भी पहनने की अपील की जा रही है। साथ ही इन दिनों सभी को अपनी मोटरसाइकिल धीमी गति से चलानी चाहिए। वहीं कई क्षेत्र ऐसे भी हैं जहां से गुजरते समय विशेष सावधानी बरतनी चाहिए। उदाहरण के लिए, घनी आबादी वाले क्षेत्र से गुजरते समय कार को धीमी गति से चलाना चाहिए। साथ ही आसपास के क्षेत्र पर भी नजर रखनी चाहिए ताकि आसपास के क्षेत्र से आ रही कटी पतंग को देखा और आने वाली दुर्घटना को टाला जा सके।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें