गुजरात : ऑस्ट्रेलिया के उच्चायुक्त बैरी ओ फैरेल ने गुजरात के मुख्यमंत्री से की शिष्टाचार भेंट

ऑस्ट्रेलियाई उच्चायुक्त ने मुख्यमंत्री भूपेंद्र पटेल को दिया ऑस्ट्रेलिया दौरे का आमंत्रण

उद्योग, व्यापार, शिक्षा और नवीकरणीय ऊर्जा के क्षेत्र में साथ मिलकर ज्यादा सुदृढ़ संबंध विकसित करने मुख्यमंत्री ने जताई उत्सुकता


भारत में ऑस्ट्रेलिया के उच्चायुक्त बैरी ओ फैरेल ने गुरुवार को गांधीनगर में मुख्यमंत्री श्री भूपेंद्र पटेल से शिष्टाचार मुलाकात की। मुख्यमंत्री ने इस बैठक में विचार-विमर्श के दौरान यह इच्छा जताई कि व्यापार, उद्योग, शिक्षा और नवीकरणीय ऊर्जा के क्षेत्र में ऑस्ट्रेलिया और गुजरात साथ मिलकर आगे बढ़ें तथा संबंधों के सेतु को ज्यादा सुदृढ़ बनाएं। उन्होंने प्रधानमंत्री की आत्मनिर्भर भारत की संकल्पना को संबंधों के इस सेतु से साकार करने की मंशा भी व्यक्त की। उन्होंने ऑस्ट्रेलिया के उच्चायुक्त से प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के अनूठे विजन के प्रतीक- स्टैच्यू ऑफ यूनिटी का विशेष दौरा करने का अनुरोध किया। 
ऑस्ट्रेलिया के उच्चायुक्त  बैरी ओ फैरेल ने खनन तकनीक, इलेक्ट्रिक व्हीकल के बैटरी इंफ्रास्ट्रक्चर तथा हाइड्रोजन ऊर्जा के क्षेत्र में ऑस्ट्रेलियाई विशेषज्ञता का लाभ गुजरात को मुहैया कराने के लिए भी फलदायी विचार-विमर्श किया। उन्होंने भारत की नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति के अंतर्गत उपलब्ध नए अवसरों के संदर्भ में ऑस्ट्रेलिया की यूनिवर्सिटियों की गुजरात में स्थापना की संभावनाओं को लेकर भी चर्चा की। 
मुख्यमंत्री  भूपेंद्र पटेल ने गुजरात की वैश्विक पहचान बन चुकी वाइब्रेंट समिट की श्रृंखला में ऑस्ट्रेलिया की सहभागिता का उल्लेख करते हुए आगामी वाइब्रेंट समिट-२०२२ में भी शामिल होने का आमंत्रण दिया। ऑस्ट्रेलिया के उच्चायुक्त ने भी मुख्यमंत्री श्री भूपेंद्र पटेल को ऑस्ट्रेलिया का दौरा करने का निमंत्रण दिया। 
इस शिष्टाचार मुलाकात बैठक में मुंबई स्थित ऑस्ट्रेलिया के महावाणिज्य दूत  पीटर ट्रसवेल, मुख्यमंत्री के मुख्य प्रधान सचिव के. कैलाशनाथन, अतिरिक्त मुख्य सचिव पंकज जोषी, उद्योग आयुक्त राहुल गुप्ता, औद्योगिक विस्तार ब्यूरो (इंडेक्स्ट-बी) की प्रबंध निदेशक श्रीमती नीलम रानी भी मौजूद थीं। मुख्यमंत्री ने ऑस्ट्रेलिया के उच्चायुक्त को स्टैच्यू ऑफ यूनिटी की प्रतिकृति बतौर स्मृति चिन्ह भेंट की। 

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें