गुजरात : कोविड अस्पतालों में नहीं रूक रहीं आग की घटनाएं, अब भरूच में हादसा, 16 की मौत

घटना के शिकार लोगों के शवों की पहचान भी मुश्किल, मुख्यमंत्री ने 4-4 लाख मुआवजे का एलान किया

देश में कोरोना महामारी के बीच अस्पतालों में आग की दुर्घटनाएं भी लगातार होती चली जा रही हैं। इस फहरिश्त में गुजरात के भरूच में हुआ हादसा भी शामिल हो गया है। जी हां, भरूच के वेल्फेर कोविड अस्पताल में लगी शुक्रवार देर रात लगी भीषण आग में 16 लोगों के मरने की खबर है। मृतकों में मरीज और दो नर्सें भी शामिल हैं। मृतकों का आंकड़ा बढ़ भी सकता है। इस अस्पताल में लगभग 100 मरीज चिकित्सारत हैं। दमकल दस्ते और मरीजों के परिजनों व स्थानीय लोोगें की मदद से आग की वारदात के बाद बचाव कार्य शुरु किया गया और कई मरीजों को सुरक्षित बचाया भी गया। 
जानकारी के अनुसार अस्पताल के मरीजों को भरूच के सिविल अस्पताल, सेवाश्रम अस्पताल, जंबुसर अल मेहमूद और वलण होस्पीटल में स्थानांतरित किया गया है। घटना पर प्रदेश के मुख्यमंत्री विजय रुपानी ने गहरा शोक प्रकट करते हुए मृतकों के परिजनों को 4-4 लाख रुपये के मुआवजे का एलान किया है। 
देर रात लगी आग की खबर वायु गति से भरूच शहर भर में फैल गई और देर रात हजारों की तादाद में लोग घटना स्थल के आसपास एकत्रित हो गये। घटना अस्पताल के आईसीयू वॉर्ड में लगी थी।
वारदात इतनी भीषण थी कि आग के शिकार हुए लोगों के शव बूरी तरह झुलग गये और उनकी पहचान करना तक मुश्किल हो गया था। आईसीयू वॉर्ड में मौजूद वेंटीलेटर, बेड और चिकित्सा के साधन जलकर राख हो गये। आग पर काबू पाने तुरंत ही लगभग 40 दमकल गाड़ियां घटना स्थल पर पहुंच गई थी। पुलिस का काफिला भी मौका ए वारदात पर पहुंच गया था। प्राथमिक रूप से घटना के पीछे शॉर्ट सर्किट को कारणभूत माना जा रहा है। घटना के बाद भरूच कलेक्टर ने एक कमिटी की रचना ही है, जो तत्काल आग की घटना की रिपोर्ट देगी। कलेक्टर ने कहा है कि घटना के दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जायेगी। बता दें कि पिछले एक वर्ष में अहमदाबाद, वड़ोदरा, जामनगर, राजकोट में भी अस्पतालों में आग की घटनाएं हो चुकी हैं। कुछ दिन पहले ही मुंबई में भी ऐसी वारदात हुए थी। 

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें