गुजरात : विदेशों में रोड-शो करके आया आईएएस का डिलिगेशन होगा क्वॉरन्टाइन

प्रतिकात्मक तस्वीर (Photo: Kuntal Chakrabarty/IANS)

एसीएस अग्रवाल ने कहा कोरोना गाइडलाइन का सभी को करना होगा पालन

वाइब्रन्ट गुजरात- 2023 के लिए विदेशों में रोड शो करके आने वाले सीनियर आईएएस सहित सरकारी डेलिगेशनों को 7 दिन का क्वॉरन्टाइन का पालन करना होगा। गुरूवार को मीडिया बीफ्रिंग में स्वास्थ्य विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव - एसीएस मनोज अग्रवाल ने बताया कि नए वेरिएंट बाद भारत सरकार ने जारी की गाइडलाइन सभी के लिए है। सभी को इसका पालन करना होगा।
गुजरात में बढ़ते कोविड 19 के केस और भारत में कर्नाटक से एमिक्रॉन वोरिएंट  मिलने के बाद वाइब्रन्ट समिट फिजिकल के बजाय वच्र्युअल मिट हो सकती है। हालांकि इसके लिए अभी 12-15 दिन समीक्षा के बाद महात्मा मंदिर में टोकन समिट के साथ वच्र्युअल मिट का आयोजन को लेकर फैसला किए जाने का वरिष्ठ अधिकारी ने बताया। 4 दिन पहले कोरोना नियंत्रण को लेकर भारत सरकार ने नई गाइडलाइन जारी की है। जिसमें नए एमिक्रॉन वेरिएंट को लेकर हाइरिस्क जारी हुए 14 देशोंसे आने वाले यात्रियों के लिए अनिवार्य क्वारंटाइन होने का आदेश दिया है। नई गाइडलाइन बाद गुजरात का एक डेलिगेशन जर्मनी, नेदरलेंड, फ्रांस में और दूसरा डेलिगेशन अमेरिका में था। अगले सप्ताह तीसरा डेलिगेशन दुबई जा रहा है।
एसीएस अग्रवाल ने विदेश से आने वालों के लिए गाइडलाइन के मुद्दे पर कहा कि भारत के इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर सभी का आरटी-पीसीआर नेगेटिव आने पर भी उन्हें अनिवार्य होम क्वॉरंटाइन होना है। जो सभी को लागू पड़ता है। कोरोना के खिलाफ वैक्सीन के तीसरे बुस्टर डोज के लिए पूछे गए सवाल के जवाब में एसीएस अग्रवाल ने बताया कि हाल कोई निर्णय नहीं लिया गया है। 

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें