गुजरात : दिल दहला देने वाली घटना में चचेरे भाई - बहन की हुई मौत

प्रतिकात्मक तस्वीर (Photo : IANS)

गुजरात के पाटन जिले से एक हैरान कर देने वाली घटना सामने आई है। गुजरात के चादुरुमना गांव की सीमा से गुजरने वाली नर्मदा नहर में चचेरे भाई व बहन की डूबने से मौत हो गई। नहर के पास डीजल इंजन में ईंधन भर रहे 23 वर्षीय ध्रुव पटेल फिसल कर गिर गए। तभी 11 साल की बहन प्राची उसे बचाने गई। लेकिन दोनों इस गंभीर दुर्घटना में डूब गए है। स्थानीय लोगों ने मौके पर पहुंचकर, दमकल व पुलिस को सूचना दी। तैराकों ने नहर में भाई-बहन की तलाश शुरू कर दी है। 

इस संबंध में मिली जानकारी के अनुसार, घटना कंबोई से चंद्रमाना गांव के सीम क्षेत्र से गुजरने वाली नर्मदा की मुख्य नहर पर शाम करीब साढ़े पांच बजे हुई। चंद्रमाना गांव के ध्रुवकुमार नवीनभाई पटेल और प्राची पटेल डीजल इंजन में डीजल डालने आए थे। इसी बीच डीजल इंजन में पाइप लीक होने से पोल डीजल इंजन में डाल दिया गया और बाल्टी धोने के लिए नहर किनारे चली गई।
अंदर पैर रखते ही ध्रुव का पैर फिसला और वह नीचे गिरने लगा। जिसके चलते उसने अपनी बहन प्राची को मदद के लिए आवाज लगाई थी। प्राची अपने चचेरे भाई को बचाने के लिए आगे आई, जिस पर भाई बहन केनाल में गिर गए थे।
घटना की जानकारी स्थानीय लोगों ने उनके परिवार को दी थी। इस पर पीड़िता के परिजन और ग्रामीण मौके पर पहुंचे और तलाशी शुरू की। लेकिन कोई भी भाई या बहन का कोई पता नहीं चला। गौरतलब है कि ध्रुव नवीनभाई पटेल अपने पिता की इकलौती संतान हैं। जबकि प्राची अमृतभाई पटेल के भी एक पुत्र और एक पुत्री में से केवल एक ही पुत्री पाई गई है।
उल्लेखनीय है कि कुछ समय पहले गांधीनगर में अदलज नर्मदा नहर पर भी ऐसी ही घटना हुई थी। जिसमें चार युवक डूब रहे थे। चार दोस्त अडालज नर्मदा नहर में सूर्यास्त देखने गए थे। इसी बीच एक युवक पैर फिसल गया और उसे बचाने गए चार दोस्त नहर में डूब गए थे। जिसमें तीन युवकों को बचा लिया गया, एक युवक का शव मिला है। निरमा यूनिवर्सिटी के एमबीए के चार छात्र वाटरसाइड होटल में खाना खाने गए थे। इनमें एक छात्र भी शामिल था। सूर्यास्त देखने के लिए चारों छात्र होटल के पास नहर पर पहुंचे।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें