गुजरात : सरकारी अधिकारी का नकली फेसबुक अकाउंट बनाकर मांगी जा रही रिश्वत, साइबर क्राइम में केस दर्ज

(Photo Credit : IANS)

मेहसाणा कलेक्ट्रेट में डिप्टी मामलातदार के पद पर कार्यरत एक सरकारी कर्मचारी के फेसबुक पर फर्जी अकाउंट बनाकर पैसे मांगने का मामला सामने आया था। इसकी जानकारी जब डिप्टी मामलातदार को हुई तो उन्होंने साइबर क्राइम थाने से संपर्क किया और तुरंत अपनी फर्जी आईडी को ब्लॉक कराने की कार्रवाई की। इससे पहले दूधसागर डेयरी के चेयरमैन अशोकभाई चौधरी के साथ-साथ पूर्व सांसद जीवाभाई पटेल के नाम से भी फेसबुक पर फर्जी आईडी बनाकर पैसे की मांग करने की घटना प्रकाश में आई थी।
प्राप्त जानकारी के अनुसार, मेहसाणा कलेक्ट्रेट में आपूर्ति शाखा में उप मामलातदार के रूप में ड्यूटी पर तैनात रसूलखान बहेलिम की एक तस्वीर के साथ-साथ एक फर्जी आईडी नाम से सोशल प्लेटफॉर्म फेसबुक पर प्रसारित हो रही थी। डिप्टी मामलातदार के नाम से बनाई गई फर्जी आईडी से लोगों को फ्रेंड रिक्वेस्ट भेजी जाती और उनसे गूगल पे के जरिए 12 से 15 हजार रुपए की रिश्वत मांगी जाती। इस बारे में पता चलने पर डिप्टी मामलातदार रसूल खान बेहेलिम हैरान रह गए।
उक्त मामले में उप मामलातदार ने तत्काल अपने मित्रों और परिचितों को फर्जी आईडी के अनुरोध को स्वीकार न करने और व्हाट्सएप के साथ-साथ एसएमएस के माध्यम से पैसे न देने की सूचना दी। बेसबुक के कार्यालय में फर्जी आईडी को ब्लॉक करने का प्रस्ताव रखा ताकि कोई अपने नाम की फर्जी आईडी से धोखा न खा जाए। साथ ही साइबर क्राइम के शिकार डिप्टी मामलातदार ने भी फर्जी आईडी बनाने वाले के खिलाफ कार्रवाई के लिए मेहसाणा साइबर क्राइम थाने का दरवाजा खटखटाया था।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें