कभी 'सेक्स स्ट्राइक' होने के बारे में सुना है!? आजकल अमेरिका में महिलाएं ऐसी ही धमकी दे रहीं, जानें माजरा

अमेरिकी सुप्रीम कोर्ट ने 24 जून को गर्भपात को कानूनी तौर पर मंजूरी देने वाले पांच दशक पुराने फैसले को पलट दिया, बी इस फैसले का जमकर विरोध हो रहा है

अमेरिका में हाल ही में सुप्रीम कोर्ट द्वारा अपने 50 साल पुराने फैसले को पलटते हुए गर्भपात के संवैधानिक अधिकार को खत्म कर दिया। ‘रो वर्सेज वेड रूलिंग’ में महिलाओं को गर्भपात का संवैधानिक अधिकार दिया गया था जिसे अब अमेरिका की सर्वोच्च अदालत ने खत्म कर दिया।। इसके बाद अमेरिका के 50 राज्यों में से 26 ने गर्भपात को कानूनी तौर पर प्रतिबंधित करने की तैयारी शुरू कर दी है। कोर्ट के इस फैसले का अमेरिका में भारी विरोध देखने को मिल रहा है। गर्भपात कानून के विरोध में महिलाएं इन दिनों देशव्यापी सेक्स स्ट्राइक की धमकी दे रही हैं। महिलाओं का कहना है कि वो गर्भवती नहीं होना चाहतीं और उसके लिए किसी भी पुरुष के साथ यौन संबंध नहीं बनाएंगी। इस विरोध को अमेरिकी सोशल मीडिया में भी जबरदस्त समर्थन मिल रहा है। 

आपको बता दें कि इस फैसले के विरोध में पूरे अमेरिका में पिछले दो दिन से प्रदर्शन हो रहे हैं। लगभग सभी राज्यों में बड़े पैमाने पर महिलाएं सड़कों पर उतरकर इस फैसले का विरोध जता रही हैं। अमेरिका की सडकों पर महिलाएं बड़ी संख्या में सेक्स स्ट्राइक के बैनर-पोस्टर के साथ इस फैसले का विरोध कर रही हैं।  न्यूयॉर्क में सड़कों पर विरोध कर रही एक महिलायें ऐसे लोगों की तलाश में है जो सामूहिक सेक्स स्ट्राइक को कोआर्डिनेट कर पाएं। गर्भपात के अधिकार को वापस लेने के बाद वो सब ‘नो मोर सेक्स’ का नारा लगाकर अपना विरोध दर्ज करा रही हैं। यह मांग इतनी ज्यादा बढ़ गई है कि अमेरिकी सोशल मीडिया पर #SexStrike दो दिन से ट्रेंड कर रहा है।

विरोध के अलावा अमेरिका के ओरेगन राज्य के पोर्टलैंड में तो सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद हिंसा भी हुई। विरोध कर रहे समूहों ने कई इमारतों में तोड़फोड़ की। इतना ही नहीं कई महिलाओं ने इस नियम को समर्थन देने वाले रिपब्लिकन पार्टी का समर्थन करने वाले पुरुषों के साथ सेक्स न करने का आह्वान भी किया। महिलाओं ने अमेरिकी कांग्रेस के लाइब्रेरी की दीवार पर जगह-जगह दीवारों पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले के विरोध में नारे लिखे।

बता दें कि अमेरिकी सुप्रीम कोर्ट ने 24 जून को गर्भपात को कानूनी तौर पर मंजूरी देने वाले पांच दशक पुराने फैसले को पलट दिया था। इसी के साथ अमेरिका में गर्भपात का 50 साल पुराना संवैधानिक संरक्षण समाप्त हो गया। अब महिलाओं के गर्भपात के हक को लेकर अमेरिका के सभी राज्य अपने-अपने अलग नियम बनाएंगे। अमेरिका में 1973 के रो वी वेड के फैसले में सुप्रीम कोर्ट ने गर्भपात को संवैधानिक अधिकार का दर्जा दिया था।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें