कोरोना के कारण 1 जून तक नहीं हो सकेंगे पावागढ की देवी मां के दर्शन

(Photo Credit : youtube.com)

देश-विदेश से बड़ी संख्या में आते है दर्शनार्थी, कोरोना संक्रमण की असरों के कारण लिया गया था निर्णय

गुजरात में कोरोना संक्रमण वायरस की दूसरी लहर के कारण प्रशासन ने एहतियात के तौर पर कई प्रतिबंध लगा दिए हैं। इसी के अंतर्गत कई धर्मस्थान भी बंद किए गए हैं। गुजरात के प्रसिद्ध पावागढ़ के महाकाली मंदिर को भी एहतियात के तौर पर 1 जून तक बंद कर देने का फैसला किया गया है। वड़ोदरा स्थित 51 शक्तिपीठों में से एक पावागढ़ यात्रा धाम अब 1 जून के बाद दर्शकों के लिए खुल सकता है।
इस यात्रा धाम के दर्शन करने देश विदेश से बड़ी संख्या में दर्शनार्थी आते हैं। एक अंदाज के अनुसार हर साल 8-10 लाख दर्शनार्थी पावागढ़ में माता के दर्शन के लिए आते हैं। दर्शनार्थियों के आने के कारण ही पावागढ़ के पर्वत पर रहने वाले तथा तलहटी में रहने वाले हजारों लोगों को रोजगार मिलता है लेकिन मंदिर ट्रस्ट की ओर से 1 जून तक मंदिर को बंद करने का फैसला लिया गया है। इसके चलते इन हजारों लोगों की रोजी-रोटी पर सवाल खड़ा हो गया है। 
इसके पहले 28 अप्रैल तक मंदिर बंद रखने का फैसला किया गया था लेकिन इसके बाद क्रमश: यह फैसला बढ़ते बढ़ते 1 जून तक चले गया। जिसके कारण बड़ी संख्या में लोगों को बेरोजगारी का सामना करना पड़ रहा है। 

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें