बेड नहीं मिलने से व्यथित कोरोना संक्रमित युवक ने रेल के नीचे आकर आत्महत्या कर ली

प्रतिकात्मक तस्वीर (Photo Credit : Pixabay.com)

दक्षिण गुजरात में पारडी की घटना, भाई की बाइक लेकर निकला और नहीं आया

सूरत शहर सहित दक्षिण गुजरात में कोरोना के संक्रमितो की संख्या लगातार बढ़ रही होने से प्रशासन अस्पतालों में तमाम प्रकार की व्यवस्था करने का हर संभव प्रयास कर रहा है। लेकिन प्रशासन के सभी प्रयास इसमें नाकाफी साबित हो रही है। ऐसे में मरीजों को हालत बद से बदतर होती जा रही है। ऐसे में वलसाड जिले के पारड़ी से एक अनिच्छनीय घटना सामने आई है, जहां एक मरीज को कोरोना संक्रमण के बाद हॉस्पिटल में बेड नहीं मिला तो परेशान होकर युवक ने आत्महत्या कर ली।
इस घटना के बाद पूरे क्षेत्र में सनसनी फैल गई है। मिली जानकारी के अनुसार पारडी में रहने वाले गणेश ठाकुर पटेल नाम के शख्स को कोरोना संक्रमण के बाद उसने हॉस्पिटल में एडमिट होने के लिए प्रयास करना शुरू किया। लेकिन अस्पताल में बेड खाली नहीं थे। बेड नहीं मिलने के कारण उसे धोनीया स्थित वाडी के मकान में उसे क्वारंटाइन कर दिया गया था।
इस दौरान मंगलवार को उसने अपने भाई से बाइक ली और कहा कि मैं थोड़ी देर में आ रहा हूं, पर काफी देर हो जाने के बाद भी वह वापस नहीं आया। परिवार वालों ने उसे ढूंढने का प्रयास किया लेकिन वह कही नहीं मिला। इस दौरान रेलवे पटरी पर किसी ने आत्महत्या कर ली होने की बात उनके कान लगी, जिसके चलते परिवार वाले वहाँ पहुंचे। जहां उन्होंने लाश की पहचान गणेश के तौर पर की थी। 
घटना के बारे में पुलिस शिकायत दर्ज करवाई गई है, जिसमें लिखा है कि हॉस्पिटल में बेड नहीं मिलने के कारण परेशान होकर गणेश ने आत्महत्या की थी। इस घटना ने स्वास्थ्य विभाग की पोल खोल कर रख दी है कि दक्षिण गुजरात में स्वास्थ्य की परिस्थिति क्या है।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें