वैक्सीन के लिए दिल्ली सरकार ने किया ग्लोबल टेंडर

(File Photo : IANS)

45 साल से ऊपर के लोगों के लिए किया गया ड्राइव थ्रु वैक्सीनेशन का आयोजन

नई दिल्ली, 29 मई (आईएएनएस)| वैक्सीन के लिए दिल्ली सरकार ने ग्लोबल टेंडर किया है। इस बीच शनिवार को दिल्ली में छत्रसाल स्टेडियम में निशुल्क ड्राइव थ्रू वैक्सीनेशन सेंटर की शुरूआत की गई है। यह ड्राइव थ्रू वैक्सीनेशन ड्राइव फिलहाल 45 वर्ष से उपर के लोगों के लिए है। दिल्ली में वैक्सीन की सप्लाई बढ़ने पर युवाओं को भी इसका लाभ मिल सकेगा। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली को वैक्सीन की सप्लाई बढ़ेगी, तो हम युवाओं को भी लगाएंगे। वैक्सीन पाने के लिए हमारी कोशिशें जारी हैं। इसके लिए दिल्ली सरकार ने ग्लोबल टेंडर भी किया है। दुनिया भर की वैक्सीन उत्पादक कंपनियां सीधे केंद्र सरकार से बात कर रही हैं। अलग-अलग राज्य सरकारें वैक्सीन पाने में कितनी सफल होंगी, यह समय बताएगा।
सीएम अरविंद केजरीवाल ने शनिवार को छत्रसाल स्टेडियम में 45 वर्ष से अधिक उम्र के लोगों के लिए ड्राइव थ्रू वैक्सीनेशन सेंटर की शुरूआत की। इस दौरान सीएम ने कहा कि छत्रसाल स्टेडियम में दिल्ली सरकार की तरफ से ड्राइव थ्रू वैक्सीनेशन सेंटर शुरू किया जा रहा है। यहां पर लोग पैदल, अपनी गाड़ी में या मोटरसाइकिल से आकर वैक्सीनेशन करा सकते हैं। यहां वैक्सीनेशन बिल्कुल मुफ्त है। अभी यहां फिलहाल 45 साल से अधिक उम्र के लोगों के लिए शुरू किया गया है, क्योंकि 45 साल से कम उम्र के लोगों के लिए अभी दिल्ली सरकार के पास वैक्सीन नहीं है। जैसे ही वैक्सीन आएगी, 45 से नीचे उम्र वालों के लिए भी वैक्सीनेशन शुरू किया जाएगा।
दिल्ली सरकार के विभिन्न डिस्पेंसरी, अस्पतालों और स्कूलों में वैक्सीनेशन पहले से ही किया जा रहा है। यह देखा गया है कि कुछ लोग संक्रमण के डर से वैक्सीनेशन के लिए अस्पतालों, डिस्पेंसरी और स्कूलों में जाने से हिचकिचा रहे हैं। ड्राइव-थ्रू वैक्सीनेशन ऐसे लोगों को अन्य व्यक्तियों के संपर्क में आए बिना वैक्सीनेशन कराने का विकल्प प्रदान करेगा। इससे लोगों में विश्वास बढ़ेगा और अधिक से अधिक लोग इस सुविधा का उपयोग करेंगे। प्रारंभ में, को-विन पोर्टल पर स्लॉट की प्री-बुकिंग के बाद केवल 45 वर्ष और उससे अधिक उम्र के लोगों को पहली खुराक कोविशील्ड वैक्सीन का टीका लगाया जाएगा। लोग स्टेडियम में अपने वाहनों में आ सकते हैं और बिना बाहर निकले टीका लगवा सकते हैं। उन्हें अपने वाहनों में केवल पाकिर्ंग क्षेत्र में 30 मिनट तक प्रतीक्षा करना होगा।
यदि पार्किंग में प्रतीक्षा कर रहे किसी व्यक्ति को कोई समस्या हो, तो वह हॉर्न बजाकर या पार्किंग लाइट चालू करके निकटतम स्वयंसेवक से संपर्क कर सकता है। इसके लिए पर्याप्त संख्या में सीडीवीएस आदि तैनात किए गए हैं। वैक्सीनेशन (एईएफआई) के बाद किसी भी प्रतिकूल घटना से निपटने के लिए हमेशा एक डॉक्टर मौजूद रहेगा। किसी भी एआईएफआई के मामले के लिए बीजेआरएम अस्पताल एईएफआई प्रबंधन केंद्र है। जरूरत पड़ने पर मरीज को एईएफआई प्रबंधन केंद्र तक पहुंचाने के लिए छत्रसाल स्टेडियम में कैट्स एम्बुलेंस तैनात की जाएगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि हम स्टेडियम में एक दिन में 400 लोगों का वैक्सीनेशन कर सकते हैं। आज हमने केवल 200 लाभार्थियों के लिए स्लॉट बुक किया है। इसे आने वाले दिनों में प्रति दिन 400 लाभार्थियों तक बढ़ाया जाएगा। लोगों के लिए पानी व नीबू पानी की व्यवस्था की गई है।
(Disclaimer: यह खबर सीधे समाचार एजेंसी की सिंडीकेट फीड से पब्लिश हुई है। इसे लोकतेज टीम ने संपादित नहीं किया है।)

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें