ब्राजील : बिना मेहनत किये ‘हल्क’ बनने की चाह में लेता था तेल के इंजेक्शन, हुई दर्दनाक मौत

डॉक्टरों ने दी थी चेतावनी, इंजेक्शन के साइड इफेक्ट्स देखने के बाद भी नहीं रुका ये शख्स

आज के समय दुनियाभर के लोगों बॉडी बिल्डिंग का अलग ही क्रेज देखने को मिलता है। अधिकांश युवा घंटों जिम में जाकर पसीना बहाते है। कुछ इससे आगे निकल जाते है और दवा या स्टोरोइड वगैरा लेने लगते है। लेकिन ये बहुत हानिकर भी सिद्ध हो सकता है। ऐसे ही एक शौक में ब्राजील के रहने वाले वल्दीर सेगाटो  को दर्दनाक मौत मिली। ये भाई साहब अपने शरीर को बढ़िया बनाने के लिए कुछ अलग ही करते थे। ये महाशय तेल का इंजेक्शन लगाते थे। तमाम वार्निंग के बाद भी वल्दीर ने अपनी बॉडी में तेल के इंजेक्शंस लेने बंद नहीं किये। इससे आखिरकार उसकी मौत हो गई। 
आपको बता दें कि एक्सपर्ट्स ने कई बार वल्दीर को चेतावनी दी थी। वल्दीर के इंजेक्शंस में सिंथोल भरा होता था। इससे वल्दीर की बॉडी फूल जाती थी। भयंकर हेल्थ इश्यू के बाद अब उसकी मौत हो गई है। सिंथोल के इंजेक्शंस की वजह से उसके बॉडी के काईन पार्ट्स को काटने की नौबत भी आ गई थी। लेकिन इसके बाद भी वो लगातार खतरनाक इंजेक्शन लेता रहा। अंत में छह साल बाद आखिरकार उसकी मौत हो गई। वल्दीर को कई बार डॉक्टर्स ने मौत की चेतावनी दी थी। 
बॉडीबिल्डर वल्दीर खुद को बिना मेहनत किये मार्वल के लोकप्रिय किरदार हल्क जैसा बनाना चाहता था। शार्टकट के चक्कर में वो अपनी बॉडी में सिंथोल के इंजेक्शंस लेता रहा। इसी इन्जेक्शन के सहारे उसने 23 इंच के बाइसेप्स बना लिये थे। 23 इंच के बाइसेप्स के अंदर वल्दीर ने कई सिंथोल के इंजेक्शन भरे हुए थे। इसी की वजह से उसे इन्फेक्शन हो गया और फिर हार्ट अटैक के बाद 55 साल की उम्र में उसकी मौत हो गई। वल्दीर सोशल मीडिया पर भी काफी एक्टिव था और टिकटॉक पर उसके करीब 16 लाख फॉलोअर्स थे। वो अपने फैंस को अपनी बॉडी की झलक दिखाता रहता था। मूल रूप से ब्राजील के साओ पाउलो के रहने वाले वल्दीर को हल्क और मॉन्स्टर जैसे नामों से बुलाया जाने लगा था।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें