सूरत : गणेशजी की प्रतिमा को इन 18 कृत्रिम तालाबों में कर सकेंगे विसर्जन

सूरत : गणेशजी की प्रतिमा को इन 18 कृत्रिम तालाबों में कर सकेंगे विसर्जन

मनपा प्रशासन ने टेन्डर कार्यवाही शुरू की, 4 फिट की मूर्ति के नियम के कारण कम की गई तालाबों की संख्या

सूरत सहित गुजरात में भाजपा की जन आशीर्वाद यात्रा निकलने के बाद लोगों ने गणेश उत्सव और नवरात्रि उत्सव को मंजूरी देने की आक्रामक मांग की थी। उत्सव नहीं तो वोट नहीं के बैनर कई क्षेत्र में लगे थे। लोगों का मिजाज देखकर दोनों उत्सव को गुजरात सरकार द्वारा कोविड गाइड लाइंस के साथ मंजूरी दी गई है। अब सूरत मनपा प्रशासन ने गणेश विसर्जन के लिए कृत्रिम तालाब बनाने की कार्यवाही शुरू कर दी है। 2019 में 22 कृत्रिम तालाब नाए थे, लेकिन इस वर्ष प्रतिमा की उंचाई की मर्यादा को देखते हुए सिर्फ 18 तालाब बनाने का फैसला लिया।
मनपा प्रशासन की ओर से कृत्रिम तालाब बनाने की कवायद शुरू कर दी गई है। कृत्रिम तालाब बनाने टेन्डर कार्यवाही के साथ अधिकारियों को भी काम सौंपा गया है। नेशनल ग्रीन ट्रीब्युनल के आदेश के मुताबिक कुदरती नाला, नदी, तालाब के घाट पर विसर्जन नहीं होगा। जिससे यहां बेरिकेडिंग कर सिक्युरिटी और पुलिस बंदोबस्त तैनात किया जाएगा। इसके अलावा गणेश उत्सव दौरान भारत सरकार और गुजरात सरकार की कोविड गाइड लाइंस और पुलिस कमिश्नर की अधिसूचना का पालन हो इसलिए सभी जोनल चीफ, आसि. कमिश्नर, कार्यपालक इंजीनियर और स्वास्थ्य अध्किाारी को जिम्मेदारी सौंपी गई है।
2019 में सूरत मनपा प्रशासन द्वारा 22 कृत्रिम तालाब बनाए गए थे। लेकिन इस वर्ष 4 फिट की मूर्ति की मर्यादा होने से तालाबों की संख्या कम रखी गई है। अगर प्रतिमाओं की स्थापना ज्यादा होगी तो लोग घर आंगन में ही विसर्जन करना होगा।
जानें कौन से जोन में कितने तालाब बनाए जाएँगे :
अठवा - 3
सेंट्रल - 1
वराछा - 3
लिंबायत - 1
उधना - 3
रांदेर - 2

Related Posts