मेहसाणा : तिरंगा यात्रा में हिस्सा लेने पहुंचे नितिन पटेल बने आवारा पशुओं का शिकार, अस्पताल में कराना पड़ा भर्ती

मेहसाणा : तिरंगा यात्रा में हिस्सा लेने पहुंचे नितिन पटेल बने आवारा पशुओं का शिकार, अस्पताल में कराना पड़ा भर्ती

कुछ दिन पहले एक छात्र भी बन चुका है आवारा पशुओं का शिकार, नगर निगम को कोई सुध ही नहीं

राज्य में आवारा पशुओं का आतंक तो कम होने का नाम नहीं ले रहा है। आये दिन कहीं न कहीं से कोई न कोई मामला सामने आ ही जा रहा है जिसमें आम जनता इन आवारा पशुओं का शिकार बन रही हैं। हाल ही में एक छात्र पर हुए गाय के हमले की घटना के कुछ दिन बाद ही अब प्रदेश के पूर्व उपमुख्यमंत्री नितिन पटेल भी आवारा पशुओं के चंगुल में फंस गए हैं। राज्य के अन्य शहरों में आवारा पशुओं के खतरे में वृद्धि से कडी शहर को अछूता नहीं है। मेहसाणा के कडी में आयोजित तिरंगा यात्रा के दौरान नितिन पटेल गाय के कुचलने से घायल हो गए थे.
मेहसाणा जिले के कडी की सार्वजनिक सड़कों पर बड़ी संख्या में गाय-बैल बैठे रहते हैं। ये जानवर आते ही राहगीरों और वाहन चालकों पर हमला कर घायल कर देते हैं। आज इनका शिकार नितिन पटेल बने हैं। कडी में आयोजित तिरंगा यात्रा में हिस्सा लेने पहुंचे नितिन पटेल जब सब्जी मंडी के सामने से गुजर रहे थे उस समय एक गाय ने उन पर हमला कर दिया और उन्हें घायल कर दिया। घायल नितिन पटेल को कडी के भाग्योदय अस्पताल में भर्ती कराया गया है, जहां उनका इलाज चल रहा है। 
कुछ दिन पहले कडी में एक छात्र भी आवारा मवेशियों का शिकार बना है। शहर के डेट्रोज रोड से गुजर रहे एक छात्र पर गाय ने हमला कर दिया और उसे नीचे गिरा दिया। इसके बाद उसे घायल कर दिया। इस घटना से नगर पालिका ने कोई सबक नहीं लिया, जिसके चलते राज्य के एक बड़े नेता को अस्पताल में भर्ती होना पड़ा। स्थानीय लोगों ने मांग की है कि काडी नगर पालिका को आवारा पशुओं को तुरंत पिंजरे में बंद करना चाहिए।

Related Posts