सूरत : ऑरेंज अलर्ट के बीच बिजली कटौती से लोगों की परेशानी बढ़ी

भीषण गर्मी में बिजली गुल होने से लोग बेहाल, कंपनी की कार्यप्रणाली पर सवाल

सूरत : ऑरेंज अलर्ट के बीच बिजली कटौती से लोगों की परेशानी बढ़ी

ऑरेंज अलर्ट जारी होने के बावजूद सूरत शहर में गर्मी का प्रचंड प्रकोप जारी है। इस तीव्र गर्मी के बीच बिजली कंपनी डीजीवीसीएल द्वारा बार-बार बिजली कटौती किए जाने से लोगों की परेशानी बढ़ गई है।

‌रिपोर्ट के अनुसार पाल-पालनपोर, उगत, लिंबायत, परवत और गोडदारा समेत कई इलाकों में बिजली कटौती की समस्या गंभीर हो गई है। इन इलाकों में देर रात और सुबह के समय 4 से 5 घंटे तक बिजली गुल रहने से लोगों का जीना मुहाल हो गया है।

बढ़ती गर्मी में बिजली कटौती से त्रस्त लोग

25 मई तक तापमान में और वृद्धि होने की आशंका के बीच, सूरत नगर निगम और प्रशासन ने लोगों को घर पर रहने और लू से बचाव के उपाय अपनाने की सलाह दी है। लोग सरकारी दिशानिर्देशों का पालन करते हुए दिन में घरों में रहना पसंद कर रहे हैं, लेकिन बिजली कटौती ने उनकी परेशानी को और बढ़ा दिया है।

डीजीवीसीएल की कार्यप्रणाली पर सवाल

दक्षिण गुजरात पावर कंपनी (डीजीवीसीएल) शहर के आधे हिस्से में बिजली आपूर्ति करती है। दिन-रात बिजली गुल होने से लोगों का गुस्सा बढ़ रहा है। लोग तीखी गर्मी में परेशान हैं और बिजली कंपनी की लापरवाही पर सवाल उठा रहे हैं।

रात में भी नहीं मिल रही राहत

जब लोग दिन की थकान मिटाने के लिए रात में सोने की कोशिश करते हैं, तो बिजली गुल हो जाती है। रात के समय भी बिजली कटौती हो रही है, जिससे लोगों को जलापूर्ति, मोबाइल चार्जिंग, पंखे और कूलर जैसी बुनियादी सुविधाओं का भी अभाव झेलना पड़ रहा है।

लोगों की मांग

इस भीषण गर्मी में लोगों की मांग है कि बिजली कंपनी लगातार बिजली आपूर्ति करे। लोगों ने डीजीवीसीएल की कार्यप्रणाली पर सवाल उठाते हुए जल्द से जल्द समस्या का समाधान करने की मांग की है।

क्या कहा डीजीवीसीएल ने

डीजीवीसीएल का कहना है कि बिजली कटौती के पीछे तकनीकी खराबी और बिजली की बढ़ती मांग है। कंपनी का दावा है कि वे जल्द से जल्द समस्या का समाधान करने की कोशिश कर रही है।

Tags: Surat DGVCL