गुजरात : 500 पर्यटकों की भीड़ के साथ छुट्टी के बाद खुला वेलावदर का एंटेलोप अभयारण्य

प्रतिकात्मक तस्वीर

प्रजनन समय के कारण हुआ था अभयारण्य बंद, खुलने के बड़ा सप्ताहांत में 500 लोग आए देखने

गुजरात के भावनगर स्थित भाल पंथक में 7000 से अधिक संख्या वाले एंटेलोप अभयारण्य को फिर से खोल दिया गया है। इसके चलते वन्य प्रेमियों में काफी खुशी देखने मिल रही है। बारिश के दौरान काले हिरणों का प्रजनन समय होने के कारण अभयारण्य बंद रखा गया था। हालांकि 16 अक्टूबर को यह वैकेशन खतम हुआ था और इसके बाद अभयारण्य के दरवाजे आम यात्रियों के लिए खोले गए थे। 
बता दे की इसके पहले कोरोना महामारी के कारण डेढ़ साल तक अभयारण्य बंद भी था और इसके बाद कुछ समय के लिए खुला। हालांकि इसके बाद कुछ ही समय में एंटेलोप का प्रजनन समय शुरू हो गया और अभयारण्य में वैकेशन रखना पड़ा। वेकेशन के बाद पहले शनि-रवि के दौरान 500 यात्रियों ने अभयारण्य की मुलाक़ात ली थी। एंटेलोप के अलावा अन्य वन्य जीवों और पशु-पंछियों को देखने का आनंद भी लोगों को मिला था। ऐसे में तंत्र द्वारा आशा व्यक्त की जा रही है की दिवाली के दौरान भी यहाँ यात्रियों की भीड़ बनी रहेगी।
हवा में उछलते काले हिरणों को देखना अद्भुत दृश्य है। भावनगर के अलावा , अहमदाबाद , वडोदरा और सूरत के अलावा राज्य के बाहर के पर्यटक शनिवार और रविवार को यहां मृग अभयारण्य के दृश्य का आनंद लेने के लिए आते थे ।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें