वलसाड : कुत्तों का आतंक; अब तक मुर्गियों को शिकार बनाते थे, अब दो बकरों को चीर फाड़ खा गए!

प्रतिकात्मक तस्वीर

गुजरात के वलसाड में पिछले कई समय से जहां तेंदुए के आतंक ने सभी को परेशान कर रखा है। वहीं अब चनवाइ गाँव में पिछले चार महीनों से कुत्तों का आतंक काफी बढ़ गया है। जहां पहले कुत्तों द्वारा मात्र मुर्गियों का शिकार होता था, वहीं अब दो बकरों को भी कुत्तों द्वारा चीर के खा गए होने की घटना सामने आई है। 
पिछले कई समय से चनवाइ गाँव की चौकड़ी के पास कुत्तों का झुंड घूमता ही रहता है। क्योंकि इलाके में काफी चिकन और मटन की दुकान है तो कुत्तों का भी यहाँ ताता लगा है। हालांकि पिछले चार महीनों से कुत्तों में मिलकर मुर्गोंका शिकार करना शुरू कर दिया है। मुर्गों को बचाकर रखने के लिए रखे गए पत्थरों को हटा कर भी कुत्ते उनका शिकार कर जाते थे। हालांकि शुक्रवार को सामने आई इस घटना के बाद लोगों में काफी डर बैठा हुआ है। शुक्रवार को आहिरवाड में रहने वाले सुमनभाई आहिर के घर के बाहर बकरों का शिकार करने के लिए 10 से 15 कुत्तों ने ज़ोर-ज़ोर से भौंकना शुरू कर दिया। जिसके चलते बकरे डर के बाहर आ गए। बस इसी मौके का फायदा उठाकर कुत्तों ने तीन बकरों को चारों और से घेर लिया। हालांकि तीनों में से एक बकरे ने अपनी जान बचाने में सफलता हासिल की थी। पर अन्य दो बकरों को सभी कुत्तों ने मिलकर फाड़ खाया था। 
इस घटना के बाद अब लोगों में दहेशत है कि मटन-चिकन खाकर तंदूरस्त हुये यह कुत्ते आने वाले दिनों में बालकों पर भी हमला करने लगे तो क्या होगा। इसके चलते सभी ने ग्राम पंचायत और संबंधित अधिकारियों को सूचना देकर जल्द से जल्द सभी कुत्तों को गाँव से निकाल कर पशुओं तथा गाँववालों सभी को सुरक्षित करने का आवेदन किया है।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें