वलसाड : ब्याह के 28वें दिन ही माउंट आबू ले जाकर होटल में बहू की हत्या मामले में पति जेल में है, अब बाकी परिवार सदस्यों पर कार्रवाई की मांग है

माउंट आबू (फाइल तस्वीर)

गुजरात के उमरगाम में शादी के 28 दिन में ही पति द्वारा पत्नी की हत्या के मामले में पति जेल की हवा काट रहा है। हालांकि पति के बाद अब मृतक परिणीता के अन्य ससुरालवालों को भी उचित सजा देने की मांग के साथ मृतक के मायके वालों ने कलेक्टर को आवेदन दिया है। 
विस्तृत जानकारी के अनुसार, उमरगाम के कामरवाद में रहकर रिक्शा चलाने वाले हरेशभाई कामली ने वलसाड के जिला कलेक्टर शिप्रा आगरे को दिये गए अपने आवेदन में बताया कि उनकी पुत्री रुचिता कि शादी पिछले ही साल 13 दिसंबर को उमरगाम के खतलवाड़ा में रहने वाले जोली नितिन पटेल के साथ हुई थी। जिसके बाद 7 जनवरी को रुचिता, उसके पति जोली, सास शीलाबेन, ननंद प्रियंका पटेल और नंदोई जिगर पटेल अंबाजी गए थे। जहां घूमने के बाद सभी माउंट आबू पहुँचकर होटल में रुके थे। इसी होटल में रुचिता का गला दबाकर हत्या कर दी गई।
9 जनवरी को उनके दामाद जोली ने फोन कर रुचिता  की तबीयत खराब होने की जानकारी दी। इसके चलते वह अपने पुत्र विरल, भतीजे राहुल को लेकर तुरंत ही माउंट आबू पहुंचे। जहां उसके मौत की जानकारी मिली। हालांकि अस्पताल में से जब रुचिता के पोस्ट्मॉर्टेम की रिपोर्ट आई तो उसमें पता चला कि रुचिता की जान गला दबाए जाने के कारण हुई थी। जिसके चलते पुलिस ने पति जोली को हिरासत में लेकर उसे जेल भेजा था। हालांकि इस दौरान रुचिता की सास, ननंद और नंदोई वापिस आ गए थे। इसके चलते उनके ऊपर कोई भी कार्यवाही नहीं हुई। इसके चलते रुचिता के पिता ने जिला कलेक्टर को आवेदन देकर रुचिता की हत्या में सास, ननंद और नंदोई की भूमिका होने के चलते उचित कानूनी कार्यवाही कर उनकी पुत्री को न्याय देने की गुहार लगाई है।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें