उत्तर प्रदेश : प्रधानमंत्री-मुख्यमंत्री समेत शीर्ष के नेताओं ने दी बाबु जी को श्रद्धांजलि

(Photo Credit : divyabhaskar.co.in)

कल रात 9 बजे कल्याण सिंह ने 89 साल की उम्र में एसजीपीजीआई लखनऊ में ली अंतिम सांस

उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कल्याण सिंह नहीं रहे। वो बाबू जी के नाम से लोकप्रिय थे। शनिवार रात 9 बजे उन्होंने 89 साल की उम्र में एसजीपीजीआई लखनऊ में अंतिम सांस ली। कल्याण सिंह 48 दिनों तक अस्पताल में भर्ती रहे। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह, डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य, दिनेश शर्मा समेत कई वरिष्ठ बीजेपी नेताओं ने भी श्रद्धांजलि दी।
इस बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा लखनऊ पहुंचे और पूर्व मुख्यमंत्री को श्रद्धांजलि दी। नड्डा ने प्रधानमंत्री के सामने कल्याण सिंह के शरीर पर भाजपा का झंडा रखा। कल्याण सिंह की अंतिम इच्छा थी कि उनकी मृत्यु के बाद उनके शरीर को भाजपा के झंडे में लपेटा जाए।
इस बीच रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने भी कल्याण सिंह के पार्थिव शरीर को अंतिम श्रद्धांजलि दी। बसपा की राष्ट्रीय अध्यक्ष मायावती ने कल्याण सिंह को अंतिम श्रद्धांजलि दी। मायावती ने यहां पूर्व मुख्यमंत्री के पोते से मुलाकात की और संवेदना व्यक्त की। आरएसएस के दत्तात्रेय होसबोले ने भी पूर्व मुख्यमंत्री को श्रद्धांजलि दी। अंतिम दर्शन के बाद प्रधानमंत्री ने मीडिया को संबोधित किया। उन्होंने कहा, 'यह हम सभी के लिए शोक का समय है। कल्याण सिंह के माता-पिता ने उनका नाम कल्याण सिंह रखा। उसने अपने माता-पिता द्वारा दिए गए नाम को सार्थक किया। उन्होंने अपना जीवन लोगों के कल्याण के लिए समर्पित कर दिया। उन्होंने अपना जीवन भारतीय जनता पार्टी, भारतीय जनसंघ और देश को समर्पित कर दिया। कल्याण सिंह भारत के कोने-कोने में विश्वास का पर्याय बन गए।
प्रधानमंत्री ने आगे कहा, "कल्याण सिंह एक प्रतिबद्ध निर्णयकर्ता थे। उन्होंने अपना अधिकांश जीवन जनकल्याण में बिताया। जब भी उन्हें कोई जिम्मेदारी मिली तो उन्होंने उसे बखूबी निभाया। सरकार या संगठन से जो भी जिम्मेदारी मिली, उसे उन्होंने बखूबी निभाया। कल्याण सिंह के रूप में देश ने एक बहुमूल्य व्यक्तित्व खो दिया है। मैं भगवान राम से प्रार्थना करता हूं कि उन्हें उनके चरणों में स्थान दें। उनके परिवार और समर्थकों को इस शोक को सहने की हिम्मत मिले।”

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें