'थ्येनवन-1' ने मंगल ग्रह के पाकिर्ंग कक्षा में प्रवेश किया

(Photo : IANS)

'थ्येनवन-1' का प्रक्षेपण 23 जुलाई 2020 को हुआ, जो अभी तक कक्षा में 215 दिनों तक उड़ान भर चुका है। पृथ्वी से उसकी दूरी 21 करोड़ 20 लाख किलोमीटर है।

बीजिंग, 24 फरवरी (आईएएनएस)| चीनी राष्ट्रीय अंतरिक्ष प्रशासन से मिली खबर के अनुसार, 24 फरवरी को सुबह 6 बजकर 29 मिनट पर, चीन का प्रथम मंगल अन्वेषण डिटेक्टर 'थ्येनवन-1' ने तीसरी बार गति धीमी का सफल कार्यान्वयन किया और मंगल ग्रह के पाकिर्ंग कक्षा में प्रवेश किया, जहां डिटेक्टर लगभग 3 महीने तक परिक्रमा करेगा।

इस दौरान सभी सात ऑर्बिटर पेलोड को संचालित किया जाएगा और वैज्ञानिक अन्वेषण शुरू होगा। इसके साथ ही, पेलोड में मध्यम-रिजॉल्यूशन कैमरे, उच्च-रिजॉल्यूशन कैमरे और स्पेक्ट्रोमीटर, पूर्व-चयनित लैंडिंग क्षेत्र में स्थलाकृति, रेत और धूल के मौसम की विस्तृत जांच करेंगे और मंगल पर उतरने की तैयारी करेंगे।

जानकारी के अनुसार, 'थ्येनवन-1' का प्रक्षेपण 23 जुलाई 2020 को हुआ, जो अभी तक कक्षा में 215 दिनों तक उड़ान भर चुका है। पृथ्वी से उसकी दूरी 21 करोड़ 20 लाख किलोमीटर है। डिटेक्टर ने 10 फरवरी को मंगल की कक्षा में प्रवेश किया और 15 फरवरी और 20 फरवरी को दो कक्षीय समायोजन किए। वर्तमान में उपकरण सामान्य स्थिति में हैं, और सभी उड़ान नियंत्रण कार्य सामान्य रूप से संचालित हैं।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें