मां ने बहुत समझाया था; छत पर ऐसे मोबाइल गेम खेलते हुए किशोर गिर गया!

(Photo Credit : en.wikipedia.org)

छत की पाली पर लेट कर गेम खेलते खेलते आँख लगी और नीचे गिरा

लॉकडाउन के दिनों में माता पिता के लिए बच्चों का मोबाइल उपयोग सिरदर्द बनता जा रहा है। बच्चे माता-पिता से जीद कर के मोबाइल ले लेते है और घंटो मोबाइल पर लगे रहते हैं। कई माता-पिता भी अपनी जान छुडाने के लिए मोबाइल दे देत हैं लेकिन सूरत में एक ऐसी दर्दनाक घटना हुई है जो कि माता-पिता के लिए अलर्ट के समान है।
मूल तौर से उत्तरप्रदेश के निवासी संतोष गोस्वामी ड्राइवर के तौर पर नौकरी करते हैं और अपने परिवार के साथ पीपलोद क्षेत्र में राहुल राज मॉल के पास मिलन बंग्लोज के नजदीक अपने शेठ के घर पर टेरस पर आए एक रूम में परिवार के साथ रहते हैं। उनके परिवार में दो बेटे और पत्नी है। जिसमें की अमित 17 साल का और विनय 12 साल के हैं। अमित कक्षा दसवीं में दो बार फ़ेल हो चुका है। लंबे समय से अमित मोबाइल फोन पर गेम खेलने का आदि बन चुका था। माता-पिता के बार-बार समझाने पर भी वह नही मानता था।
सोमवार को प्रातः काल 4:30 बजे संतोष भाई पानी पीने के लिए उठे तो उन्होंने देखा कि उनका बेटा टेरेस पर नहीं था. बेटे को ढूंढते- ढूंढते जब उनकी नजर नीचे पड़ी तो वह नीचे गिरा पड़ा था। उपचार के लिए उसे इमरजेंसी सेवा 108 में तुरंत ही सूरत के सिविल अस्पताल में ले जाया गया। लेकिन डॉक्टर ने उसे मृत घोषित कर दिया। अमित के माता-पिता ने बताया कि वह देर रात तक मोबाइल पर गेम खेलते रहता था और कई बार माता-पिता उसे उठा लाते थे। थोडी सी लापरवाही के कारण बेटा हाथ से गंवाना पड़ा। 

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें