बैंक खाते में नहीं है बैलेंस फिर भी हासिल कर सकते है 10 हजार रुपए, जानें कैसे?

प्रतिकात्मक तस्वीर

प्रधानमंत्री जनधन योजना को सात साल हुये पूर्ण, अब तक 43 करोड़ अकाउंट खोले जा चुके है

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा देश के हर नागरिक के बैंक अकाउंट के सपने को पूर्ण करने के लिए प्रधानमंत्री जन धन योजना का आरंभ किया गया है। प्रधानमंत्री की योजना को इस साल सात वर्ष पूर्ण कर लिए है। इस योजना के तहत अब तक 40 करोड़ से अधिक अकाउंट खोले गए है। जनधन अकाउंट के तहत बीमा सहित कई सुविधाएं उपलब्ध करवाई गई है। इसके अंतर्गत दी जाने वाली ओवरड्राफ्ट लिमिट की योजना के बारे में आज हम आपको बताने जा रहे है।
इस स्कीम के तहत यदि आपके जनधन खाते में बैलेंस नहीं है तो भी आप इसमें से 10 हजार तक का ओवरड्राफ्ट ले सकते है। यह सुविधा एक शॉर्ट टर्म लोन की तरह है। पहले यह राशि 5 हजार रुपए थी, जिसके लिए अधिकतम आयु सीमा 5 वर्ष है। कोई भी अकाउंट होल्डर इस सुविधा को अपने अकाउंट ओपरेट करने के 6 महीने सफल संचालन के बाद हासिल कर सकता है। हालांकि 2000 रुपए तक की सीमा बिना किसी शर्त के उपलब्ध होती है।
बता दे की प्रधानमंत्री द्वारा शुरू की गई इस योजना में मार्च 2015 में 14.72 करोड़ से बढ़कर 18 अगसत तक 43 करोड़ हो गई है। इनमें से भी 55% खाता धारक तो महिला ही है। जबकि 67 फीसदी अकाउंट आबादी ग्रामीण और अर्धशहरी इलाकों में है। यही नहीं इन खातों में 36.86 करोड़ खाते आज भी चालू अवस्था में है। इस योजना के तहत अब तक 31.23 करोड़ लोग कार्ड के जरिये बैंकिंग का इस्तेमाल करते है।
उल्लेखनीय है कि इस योजना के तहत महिलाओं के सभी चालू अकाउंट में कुल मिलकर 30945 करोड़ रुपए जमा किए गए। तकरीबन 5.1 करोड़ खाताधारकों को विभिन्न योजनाओं के टहता सरकार से प्रत्यक्ष लाभ हस्तांतरण भी मिलता है।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें