तालिबान पर अफगानियों ने किया हमला, बगलान में 300 तालिबानी मारे गए

(Photo Credit : gujaratsamachar.com)

कई तालिबानी लड़ाकों को कैद किया गया, पंजशीर के नेता ने अपने अधिकार क्षेत्र में आने वाले क्षेत्र को तालिबान को नहीं सौंपने का दिया बयान

अफगानिस्तान में तालिबान फिर से एक बार सरकार बनाने की कोशिश कर रहा है। जिसे पंजशीर के लड़ाकू काफी बड़ी टक्कर दे रहे है। तालिबान के खिलाफ बनाई गई फोज तालिबानों के लिए काफी तकलीफ पैदा कर रही है। दोनों दलों के बीच पंजशीर में काफी कडा मुक़ाबला चल रहे है, वहीं दूसरी और बगलान प्रांत में तालिबानों को काफी बड़ा झटका लगा है। एक रिपोर्ट के अनुसार, बगलान में एक हमले में 300 तालिबानियों को कैद कर लिया गया है। 
बगलान के अंद्राब पर तालिबानियों पर एक बड़ा हमला किया गया, इसमें तालिबानियों को काफी नुकसान हुआ है। तालिबानी विरोधी फाइटरस द्वारा किए गए हमले 300 तालिबानियों को कैद कर लिया गया है। इसके अलावा कई तालिबानियों को कैद भी कर लिया है। अफगानिस्तान के उपराष्ट्रपति अमरूल्लाह सालेह ने भी सी हमले पर की और इशारा किया था। इस बारे में एक ट्वीट करते हुये उन्होंने लिखा कि जब से तालिबान पर हमला किया, उनके लिए एक पीस में वापिस आना भी मुश्किल हो गया था। ऐसे में तालिबान ने भी पंजशीर में भी अपने फाइटर्स कि संख्या बढ़ा दी है। 
तालिबान विरोधी फाइटर्स ने अफगानिस्तान के उत्तरी बगलान प्रांत के 3 जिलों में से तालिबान को बाहर कर दिया है। पर शनिवार को तालिबान ने फिर से बानू प्रांत पर अपना कब्जा स्थापित किया था। बचे हुये 2 जिलों को वापिस हासिल करने के लिए तालिबान अभी भी लड़ रहा है। तालिबानी फाइटर्स अभी भी आगे बढ़ रहे है और आगे एक बड़ा हमला करने की तैयारी कर रहे है। हालांकि पंजशीर के नेता अहमद शाह मसूद के 32 वर्षीय बेटे अहमद शाह ने तालिबानी फाइटर्स के खिलाफ चुनौती रखते हुये कहा है कि वह उनके अधिकार क्षेत्र में आने वाले इलाकों को कभी भी तालिबान को नहीं सौपेंगे।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें