सूरत : विश्व योग दिवस पर श्रमिकों ने भी किया योग का अभ्यास

सूरत नगर निगम ने अलथाण भटार रेन बसेरा में श्रमिकों को योग शिखाया

ये वे लोग हैं जिन्होंने कभी योग के बारे में कभी सुना नही कभी अभ्यास नहीं किया। इसलिए उन तक पहुंचकर उन्हें योग से भी जोड़ने का प्रयास किया है

सूरत नगर निगम द्वारा निर्मित रेन बसेरा में योग शिक्षकों द्वारा विभिन्न योगों का प्रदर्शन किया गया
सूरत शहर में हर साल लाखों श्रमिक रोजगार के लिए आते हैं और अधिक श्रम श्रमिकों तक शारीरिक रूप से पहुंचता है। योग के बारे में जानकारी प्राप्त करने के लिए और योग करके श्रमिकों के स्वास्थ्य में सुधार के लिए, विभिन्न संगठनों द्वारा रेन बसेरा में आश्रित श्रमिकों को योग दिया गया।  
रेन बसेरा में सामूहिक योगाभ्यास करते श्रमिक

अंतरराष्ट्रीय योग दिवस हर साल एक अलग थीम पर मनाया जाता है। इस साल पूरी दुनिया 'योग फॉर ह्यूमैनिटी' मना रही है। तब मजदूर वर्ग रोजगार पाने के लिए सूरत आया, जो योग के बारे में नहीं जानता था, उन्हें योग सिखाया गया।  ताकि वे अपने जीवन पर योग के महत्व को समझ सकें। सूरत नगर निगम द्वारा निर्मित रेन बसेरा में योग शिक्षकों द्वारा विभिन्न योगों का प्रदर्शन किया गया। अलथान भटार क्षेत्र के रेन बसेरा जिसमें आश्रय ले रहे बच्चों, पुरुषों, महिलाओं, मध्यम आयु वर्ग और वृद्ध लोगों के लिए यथासंभव अधिक से अधिक योग करने का प्रयास किया। लगभग 100 लोगों ने योग किया।
इस संबंध में एक योग शिक्षक ने कहा कि योग व्यक्ति को शारीरिक, मानसिक और आध्यात्मिक रूप से विकसित करने में मदद करता है और बाद में उन्हें उनकी दिनचर्या के अनुसार अलग-अलग आसन दिए गए और यह भी जानकारी दी कि कौन से रोग सहायक हैं। ये वे लोग हैं जिन्होंने कभी योग नहीं सुना या अभ्यास नहीं किया। इसलिए उन तक पहुंचकर हमने उन्हें योग से भी जोड़ने का प्रयास किया है। हमारे साथ बच्चों और बुजुर्गों ने भी योग का अभ्यास किया।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें