रूस में कुछ आवश्यक वस्तुओं की हो रही किल्लत को दूर करेगा सूरत

जानें क्या कहना है सूरत केट के पदाधिकारी बरकत पंजवानी का

पूरे दुनिया में फिलहाल यूक्रेन और रूस के बीच हो रहे युद्ध के बारे में ही चर्चा हो रही है। यूक्रेन के पर हमले के कारण जहां एक और यूक्रेन में तबाही आ चुकी है, वहीं दूसरी और रूस की हालत भी ज्यादा अच्छी नहीं है। विभिन्न देशों द्वारा लगाए गए आरोपी के कारण रूस में तैयार खाने, डेयरी प्रोडक्ट्स तथा FMCG कपड़ों की किल्लत सर्जित हुई है। ऐसे में रूसी बिजनेस हाउस द्वारा इन सभी का सप्लाय ढूँढने के लिए कंफेडरेशन ऑल इंडिया ट्रेडर्स (केट) का संपर्क किया गया है।
ईटीवी भारत की रिपोर्ट्स के अनुसार, युद्ध के चलते अमेरिका, जापान और यूरोप जैसे देशों ने रूस में जीवन जरूरी चीजों के सप्लाय पर प्रतिबंध लगा दिया था। जिसके चलते फिलहाल रूस में कई चीजों की कमी दिखाई दे रही है। जिसके चलते रूस द्वारा इस मामले में भारत सरकार से मदद मांगी गई है। केंद्र सरकार द्वारा भी रूस के बिजनेस हाउस को सहयोग देने की ज़िम्मेदारी केट ट्रेडर्स को दी गई है।
रूस-यूक्रेन युद्ध ने भारतीय उत्पादों को रूसी बाजार में प्रभावशाली उपस्थिति का एक बड़ा अवसर दिया है। क्योंकि यू.के. रूस को आपूर्ति बंद करने के लिए संयुक्त राज्य अमेरिका और यूरोपीय संघ के देशों ने रूस पर प्रतिबंध लगा दिए हैं । रूस को जो सामान चाहिए, उसमें से 10 चीजें सूरत से भेजी जाएंगी। सूची सूरत कैट (CAIT) को भेजी गई है।
सूरत सीएआईटी के अधिकारी बरकत पंजवानी ने बताया कि रूस बिजनेस हाउस ने उपयोगी एफएमसीजी आइटम, रेडी टू ईट फूड, डेयरी ब्रेकफास्ट सामग्री सहित फैब्रिक की सूची भेजी है। पूरे देश में पंजीकृत व्यापारियों को पते और जानकारी भेजी जाती है। इनमें से एक हजीरा का निर्यात है । निर्यात की 10 वस्तुओं को रूस में समर्थन दिया जाएगा। ऐसे में भारत के लिए यह एक बेहतरीन मौका है। इस संबंध में 4 मई को दिल्ली में एक बैठक भी होगी।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें