सूरत : कौन होगा अगला महापौर; इस बार सामान्य वर्ग से महिला के लिये आरक्षित है पद

मूल सूरती, सौराष्ट्र समाज या पाटिल समुदाय से किसी महिला पार्षद का चयन होने की राजनीतिक अटकलें

सूरत महानगर पालिका चुनाव के परिणाम घोषित होने के बाद अब सूरत मनपा में नए बोर्ड की रचना के चक्र गतिमान हो गये हैं। सूरत महानगर पालिका में पहले टर्म के मेयर के तौर पर महिला सामान्य केटेगरी की सीट आरक्षित है। अब मेयर पद पर किसे पसंद किया जाएगा इसे लेकर तरह-तरह की चर्चा चल रही है। 

चर्चाओं का दौर जोरों पर

2015 में पाटीदार अनामत आंदोलन के कारण कांग्रेस को पाटीदार क्षेत्र में से 23 सीटें मिली थी। जिसके चलते मेयर के तौर पर सौराष्ट्रियन महिला को मेयर बनाया गया था और दूसरे टर्म में जगदीश पटेल को बनाया गया था। इस बार पाटीदार क्षेत्रों में सिर्फ आम आदमी पार्टी को बैठकें मिली हैं जिसके चलते महिला मेयर के तौर पर सौराष्ट्रियन महिला को पसंद किया जा सकता है, ऐसी चर्चा चल रही है। लेकिन, दूसरी ओर मूल सुरती वर्ग से किसी महिला पार्षद को भी मेयर बनाया जाए यह चर्चाएं जोरों पर है। लोग तो यहां तक चर्चा कर रहे हैं कि पाटिल समुदाय से भी किसी महिला को मेयर बनाया जाए तो आश्चर्य नहीं होना चाहिये। 

महाराष्ट्रियन महिला भी दौड़ में!

महिला मेयर के तौर पर हाल में बात करें तो सूरती हेमाली बोघावाला, सौराष्ट्रियन महिला के तौर पर दर्शनी कोठिया और महाराष्ट्रीयन महिला के तौर पर पूर्णिमा धावले तथा अन्य एक पार्टी महिला पार्षद का नाम चर्चा में है। फिलहाल भाजपा में अलग-अलग पद के लिए पार्षदों में लॉबिंग चल रही है। जिसके चलते राजनीतिक गलियारों में फिर से हलचल मच गई है।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें