सूरत : ‘विवनीट प्रदर्शनी’ ने प्रदर्शकों के लिए 100 करोड़ रुपये से अधिक का कारोबार किया

पहली विवनीट प्रदर्शनी सूरत के लिए एक ब्रांड गाइड साबित हुई, प्रदर्शनी ने बुनकरों और निटर्स में नया जोश और उत्साह जोड़ा: आशीष गुजराती

तीन दिनों में प्रदर्शकों को 30 लाख मीटर से अधिक ग्रे फैब्रिक तथा 6 लाख से अधिक रैपर जैक्वार्ड साड़ियों के ऑर्डर मिले 
 सूरत इंटरनेशनल एक्जीबिशन एंड कन्वेंशन सेंटर सरसाना में सदर्न गुजरात चैंबर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री और सदर्न गुजरात चैंबर ऑफ ट्रेड एंड इंडस्ट्रीज डेवलपमेंट सेंटर द्वारा आयोजित 'विवनीट प्रदर्शनी-2021' को जबरदस्त प्रतिक्रिया मिली है। अगले साल की बुकिंग प्रदर्शकों द्वारा पहले ही पंजीकृत की जा चुकी हैं, जिन्हें देश-विदेश के खरीदारों से फीडबैक मिला है। 
चैंबर के अध्यक्ष आशीष गुजराती ने कहा कि सूरत शहर के 65,000 कपड़ा व्यापारियों में से अधिकांश ने विवनीट प्रदर्शनी का दौरा किया था और प्रदर्शकों को काफी भारी मात्रआ में ऑर्डर दिए।  20 प्रमुख भारतीय कपड़ा बाजारों जैसे जयपुर, बनारस, दिल्ली, कोलकाता और चेन्नई के खरीदारों ने प्रदर्शनी का दौरा किया। पूरे देश से खरीदार तो आए ही थे उसके अलावा यूके, दुबई और चीन से भी खरीददार आए। देश और विदेश के प्रवासी खरीदारों के लिए, प्रदर्शनी में रैपर जैक्वार्ड और वाटर जेट, एयरजेट से बने कपड़े, सादे लुम्स पर चार-बाय-एक डॉबीव्यूऔर लैपेटव्युव फैब्रिक  शामिल थे।  तीन दिनों में प्रदर्शकों को 30 लाख मीटर से अधिक ग्रे फैब्रिक के ऑर्डर प्राप्त हुए। प्रदर्शकों को 6 लाख से अधिक रैपर जैक्वार्ड साड़ियों के ऑर्डर मिले। प्रदर्शनी को प्रदर्शकों से जबरदस्त प्रतिक्रिया मिली। पहले दिन 6150 और दूसरे दिन 10500 खरीदार आए। आज लगातार तीसरे दिन लगातार बारिश में भी करीब 6700 दर्शकों ने प्रदर्शनी का अवलोकन किया। नतीजतन अगले साल की प्रदर्शनी के लिए 60 से अधिक स्टालों को पहले ही बुक किया जा चुका है। 
प्रदर्शनी में डॉला सिल्क, रशियन सिल्क, टिश्यू सिल्क, प्योर विस्कोस ऑर्गेन्जा सिल्क, मुस्लीन सिल्क, हैवी कॉटन सिल्क, नेचुरल क्रेप और चिनॉन शिफॉन जैसे विभिन्न फैब्रिक प्रदर्शित किए गए। विवनीट प्रदर्शनी के चेयरमैन मयूर गोलवाला ने जानकारी देते हुए कहा कि चेंबर के अभी तक के सभी प्रदर्शनीयों मै रिकॉर्ड ब्रेक विजिटर और बायर्स इस प्रदर्शनी में एकत्रित हुए l तीन दिवसीय विवनीट प्रदर्शनी के दौरान करीब 26000 लोगों ने विजिट कीl

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें