सूरत : प्रोजेक्ट रीसायकल के तहत एसएमसी और सौराष्ट्र पटेल सेवा समाज ने 35 लड़कियों को दिया अनोखा उपहार

(Photo Credit : divyabhaskar.co.in)

पुणे गांव के एलपीडी हाई स्कूल के 35 छात्राओं को मिली साइकिल, दिवाली पर अनोखा उपहार पा कर चमक उठे विद्यार्थियों के चेहरे

सूरत नगर निगम और सौराष्ट्र पटेल सेवा समाज-सूरत ने 'प्रोजेक्ट रीसायकल’ शुरू की है जिसमें ये पुरानी और अनुपयोगी साइकिलों को लेकर उन्हें रीसायकल करके जरूरतमंद लोगों को देने का अनूठा काम कर रहे है। इसी क्रम में इस अभियान में 'इनर व्हील क्लब ऑफ सूरत ईस्ट' की बहनों ने भी हिस्सा लेते ही पुणे गांव के एलपीडी हाई स्कूल के 35 छात्राओं को दिवाली के तोहफे में रीसाइकल्ड साइकिल देते हुए इन जरूरतमंद छात्राओं को खुश होने का मौका दिया और दिवाली पर अनोखा उपहार पा कर इन लड़कियों के चेहरे चमक उठे।
आपको बता दें कि सूरत के सौराष्ट्र पटेल सेवा समाजअध्यक्ष कांजीभाई भल्लाला ने बताया कि साइकिल चलाना स्वास्थ्य के लिए भी लाभदायक होता है और साथ ही पर्यावरण की रक्षा करता है। ऐसे में लोगों में अपने घर की पुरानी साइकिल को ठीक करा कर इन लड़कियों को दिया। इससे वो ना सिर्फ इस परियोजना को सफल बना रहे बल्कि साथ साथ इन लड़कियों को खुश होने का मौका दे रहे हैं। आगे समाजअध्यक्ष कांजीभाई भल्लाला ने बताया कि वो अगले एक साल में 1000 लोगों को साइकिल दान करने के लिए प्रतिबद्ध हैं। लोगों का इस परियोजना में सहयोगी बनने के लिए किसी भी तरह से पैसे दान करने की कोई आवश्यकता नहीं है। हालांकि लोग मंत्रालय में पुरानी साइकिल दान करके अपना योगदान कर सकते हैं।
(Photo Credit : divyabhaskar.co.in)
वहीं कार्यक्रम में उपस्थित अन्य लोगों ने भी इस परियोजना को हर दृष्टिकोण से एक बड़ा कदम बताते हुए लोगों को अधिक से अधिक सहयोग देने की बात कही। इनर व्हील ईस्ट की अध्यक्ष जयश्रीबेन भलाला ने कहा कि लोगों और संगठनों को साइकिल चलाने के लाभों के बारे में जागरूकता बढ़ाने के लिए आगे आना चाहिए क्योंकि यह आम आदमी के लिए एक वाहन के बजाय एक उपयोगी संसाधन के रूप में माना जाता है। साथ ही आज की जटिल यातायात समस्या को भी दूर किया जा सकता है। इस मौके पर सूरत के साइकिल मेयर कहे जाने वाले सुनील जैन ने सूरत के लोगों से पुरानी अनुपयोगी साइकिलें दान करने की अपील की और कहा कि पुरानी साइकिलें दान करने के लिए सौराष्ट्र पटेल समाज के कार्यालय से संपर्क किया जा सकता है, ताकि ज्यादा से ज्यादा लोगों को खुश करने के लिए साइकिल का मुफ्त उपहार दिया जा सके।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें