सूरत : महंगाई से कम हुई खाजा मिठास, अब से चुकाने होंगे ज्यादा पैसे

देश विदेश में लोकप्रिय है सूरत का खाजा, इसे खाने के लिए सुबह से लाइन में लग जाते है लोग

सूरत के लोगों के लिए ऐसी मान्यता है कि सूरत के लोग खाने के मामले में बहुत दिलदार और लंबोदर होते है। यहां लोगों के खाने पीने के लिए बहुत से व्यंजन है। इनमें से एक और विशेष रूप से बारिश के मौसम में जमकर खाये जाने वाला सूरत का प्रसिद्ध सरसिया खाजा देश और विदेश में लोकप्रिय है। लोग इसे खाने के लिए लोग सुबह से ही लाइन में लग जाया करते हैं। हालांकि, इस साल सूरतियों को खाजा के लिए प्रति किलो 40 रुपये अधिक चुकाने होंगे। इस व्यंजन को भारत के अलग-अलग राज्यों में अलग-अलग नामों से जाना जाता है। सूरती खाजा गुजरात में सबसे स्वादिष्ट माना जाता है। 
आपको बता दें कि सूरती खाजा गुजरात में सबसे स्वादिष्ट माना जाता है।  मानसून की शुरुआत के साथ ही सूरत के जाने-माने स्वादिष्ट सरसिया खाजा बाजार में तेजी आने लगी है। सूरत के भागल, गोपीपुरा, चौटा सहित कई इलाकों में सरसिया खाजा की दुकानों पर सूरतियों की भीड़ उमड़ रही है। विठी सरसिया खाजा का देश विदेश में फल-फूल रहा है। सीजन शुरू होते ही विदेशों में भी पार्सल भेजे जा रहे हैं। साथ ही कुछ साथ ही कुछ एनआरआई विदेश में पार्सल भी ले जाते हैं।
हालांकि इस साल खाजा बनाने के लिए उपयोगी अन्य सामग्री के महंगे हो जाने के कारण अब खाजा के लिए अधिक पैसे चुकाने पड़ेंगे। श्रम लागत बढ़ने के साथ-साथ किशमिश, चीनी और तेल गैस की कीमतों में बढ़ोतरी के कारण खाजा की कीमतों में तेजी आई है।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें