सूरत : इलेक्ट्रिक गाड़ियों के लिए सब्सिडी का फॉर्म नहीं भरने वाले डीलरों पर नकेल कंसने की तैयारी में है आरटीओ

सब्सिडी का फॉर्म नहीं भरने वाले डीलरों को आरटीओ प्रभारी हार्दिक पटेल ने सप्ताह का अल्टीमेटम दिया

पेट्रोल के बढ़ते कीमतों के बीच लोगों के बीच इलेक्ट्रिक गाड़ियों की मांग बढ़ी हैं। अब इन इलेक्ट्रिक गाड़ियों को लेकर बड़ी जानकारी सामने आई है। दरअसल आरटीओ ने उन डीलरों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई करने जा रही है जो अपने इलेक्ट्रिक वाहन बेचने और सरकारी सब्सिडी के लिए ऑनलाइन फॉर्म भरने के लिए संघर्ष कर रहे हैं।जिन डीलरों ने अभी तक ऑनलाइन गाड़ियों के लिए सबसिडी का फॉर्म नहीं भरा उन पर लाइसेंस रद्द होने तक का खतरा मंडरा रहा है।
आपको बता दें कि सब्सिडी का फॉर्म नहीं भरने वाले डीलरों को आरटीओ प्रभारी हार्दिक पटेल ने सप्ताह का अल्टीमेटम दिया है। इसके बाद भी अगर डीलरों ने ये कामर नहीं किया तो उनका ट्रेड सर्टिफिकेट निलंबित कर दिया जाएगा। जिसके बाद डीलर एक निश्चित अवधि के लिए नए वाहन नहीं बेच पाएंगे। सूरत की बात करें तो सब्सिडी के लिए पात्र 1000 वाहनों के ऑनलाइन पंजीकरण की प्रक्रिया लंबित है। यह 1000 वाहनों में सबसे ज्यादा दोपहिया वाहन है। सूरत राज्य में इलेक्ट्रिक वाहनों की बिक्री की सूची में सबसे ऊपर है। सूरत में पिछले 8 महीनों में अनुमानित 12000 वाहन बेचे गए हैं। वाहन बिक्री के साथ-साथ सूरत आरटीओ वाहनों के लिए सब्सिडी देने में भी राज्य में नंबर वन है। वर्तमान में सूरत आरटीओ की पुस्तक में पंजीकृत और सब्सिडी के लिए पात्र सभी वाहनों के लिए सब्सिडी का भुगतान किया गया है। सूरत में सब्सिडी के लिए दैनिक आवेदन को मंजूरी दे दी गई है। लेकिन वर्तमान में सूरत के विभिन्न डीलरों ने वहां बेचे जाने वाले इलेक्ट्रिक वाहनों से सब्सिडी के लिए पात्र 1000 वाहनों की सब्सिडी प्राप्त करने के लिए ऑनलाइन आवेदन पर कार्रवाई नहीं की है
इस बीच सूरत आरटीओ कार्यालय के प्रभारी अधिकारी हार्दिक पटेल ने फार्म नहीं भरने वाले डीलरों को सात दिन के भीतर सभी वाहन मालिकों के फॉर्म भरने के लिए वाहन सब्सिडी लेने का आदेश दिया है। यदि अगले सात दिनों के भीतर ऑनलाइन प्रक्रिया पूरी नहीं की जाती है, तो उनके व्यापार प्रमाण पत्र निलंबित कर दिए जाएंगे। इससे पहले आरटीओ प्रभारी ने सभी डीलरों को व्यक्तिगत रूप से वाहन बेचने और सब्सिडी फॉर्म भरने को कहा था।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें