सूरत : शहर की उत्तर विधानसभा क्षेत्र से कार में पकड़े गए 75 लाख, पर नेताजी हुए फुर्रर

भाग रहे शख्स कांग्रेस सचिव बी. एस. संदीप होने की आशंका

सूरत में कार से रुपए पकड़े जाने के बाद, कार से भागता हुआ शख्स सीसीटीवी में कैद हुआ

गुजरात विधानसभा चुनाव में नए घटनाक्रम सामने आ रहे हैं। आरोप-प्रत्यारोप का दौर चल रहा है। उस समय सूरत में सांख्यिकीय निगरानी ने इनोवा कार से दो लोगों को 75 लाख रुपये के साथ पकड़ा था। कार में कांग्रेस का साहित्य भी मिला है। जबकि एक व्यक्ति भागने में सफल रहा। अब इस भागने वाले का सीसीटीवी सामने आया है। जिसके मुताबिक सफेध कुर्ता पायजमा पहनकर भागने वाला शख्स कांग्रेस सचिव बीएम संदीप बताया जा रहा है। हालांकि, कांग्रेस की ओर से सभी आरोपों को खारिज किया गया है।

रितसर को कार छोड़कर भागने का सीसीटीवी फुटेज सामने आया


विधानसभा चुनाव को दृष्टिगत रखते हुए प्रत्येक विधानसभा क्षेत्र में सांख्यिकी टीम द्वारा वाहनों की जांच की जा रही है। 75 लाख जो हाल ही में संदिग्ध वाहन से बरामद किया गया था। कांग्रेस के होने की चर्चा थी। लेकिन आज एक चौंकाने वाला सीसीटीवी सामने आया है। इसको लेकर राजनीतिक चर्चा जोरों पर है। सीसीटीवी में दिख रहे शख्स एआईसीसी सचिव बी. एस. संदीप की तरह दिख रहा हैं। वे सीसीटीवी में वाहन से उतरकर इस तरह से भागते नजर आ रहे हैं।

सूरत में सियासी पारा गरमा गया है


कांग्रेस एआईसीसी के सचिव सीसीटीवी कैमरे में इस तरह नजर आ रहे हैं जैसे अपनी जान बचाने के लिए भाग रहे हों। कार से 75 लाख रुपये की बड़ी रकम बरामद की गई है। उसके कारण, यह साबित करने के लिए कि वह वहां मौजूद नहीं था, बी. एस. संदीप कार छोड़कर भाग गया। जब सांख्यिकीय टीम द्वारा कार की जांच की गई। तब तीन लोग मौजूद पाए गए थे। जिसमें से दो को पकड़ लिया गया और एक फरार हो गया। फरार व्यक्ति बी. एस. संदीप बताया जा रहा है। इस पूरे घटनाक्रम को लेकर सूरत में सियासी पारा गरमा गया है।

कार से कांग्रेस पार्टी के पार्किंग पास मिले हैं 


रुपये जो सांख्यिकीय भाप द्वारा कब्जा कर लिया गया था। वहां से कांग्रेस पार्टी के पार्किंग पास मिले। कार से आधार कार्ड बरामद किया गया है। आधार कार्ड बी.एस. संदीप का बताया जा रहा है। जिसे कार से बरामद कर लिया गया है। आसपास के सीसीटीवी कैमरों की जांच में बी.एस.संदीप सीसीटीवी में भागता नजर आया है।

दौड़ते नेताजी सीसीटीवी में कैद


टीम ने उस जगह से 100 मीटर की दूरी से सीसीटीवी फुटेज की जांच की जहां से इनोवा कार को भगाया गया था। जिसमें संदीप दौड़ते हुए कैमरे में कैद हो गए हैं। सफेद पजामा और लहंगा पहनकर मु_ियां भींच कर चलने वाले को संदीप कहा जाता है। कार में संदीप के नाम का आधार कार्ड भी मिला।

राहुल गांधी की सभा का खर्च रुपये


कार से 75 लाख रुपए बरामद किए गए। कांग्रेस नेता भी स्वीकार कर रहे हैं कि वह कांग्रेस पार्टी से ताल्लुक रखते हैं। आधिकारिक तौर पर उन्होंने अभी तक मीडिया में कोई बयान नहीं दिया है। लेकिन कुछ नेताओं का कहना है कि महुवा में राहुल गांधी की जनसभा हुई थी। इसकी योजना बनाने में आया खर्च। ये रुपये उसका भुगतान करने के लिए लाए गए थे।

बीजेपी-कांग्रेस को बदनाम करने की साजिश


कांग्रेस के नैषध देसाई ने कहा कि यह बीजेपी की साजिश है। वे कांग्रेस को बदनाम करने के लिए तरह-तरह की साजिश रच रहे हैं। लेकिन लोगों को गुमराह नहीं होना है। किसी का आधार कार्ड या कांग्रेस कार्ड मिलने से यह साबित नहीं हो जाता कि वह बी.एस. संदीप का हैं। वह उस दिन सूरत में नहीं थे। साथ ही सीसीटीवी में यह भी स्पष्ट नहीं हो रहा है कि वह संदीप ही है।

गहलोत के साथ उदय गुर्जर की फोटो


महिधरपुरा में कार से जब्त लाखों की नकदी का कांग्रेस कनेक्शन आखिरकार सामने आ ही गया। गिरफ्तार दोनों आरोपियों में उदय गुर्जर नाम का शख्स कांग्रेस से जुड़ा हुआ है। वह सीधे तौर पर राजस्थान यूथ कांग्रेस से जुड़े हुए हैं। अशोक गहलोत हों या रघु शर्मा, यह सबके साथ नजर आता है। वह राहुल गांधी की सभा में भी मौजूद थे।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें