सूरत : अभी-अभी आप में जुड़े उद्यमी-समाजसेवक महेश सवानी सोशल मीडिया पर हो गये ट्रोल, जानें वजह

(Photo Credit : Twitter)

लकड़ी के खंभे वाली तस्वीर साझा करने के बाद पोस्ट डिलीट करनी पड़ी

गुजरात में अगले साल विधानसभा चुनाव होने हैं। इस चुनाव के लिये कांग्रेस का तो पता नहीं लेकिन आम आदमी पार्टी ने अवश्य ही ताकत लगानी शुरु कर दी है। पार्टी के दिग्गजों को जोड़ा जा रहा है। इसी क्रम में पिछले दिनों सूरत के प्रतिष्ठित उद्यमी और समाजसेवक महेश सवानी को आम आदमी पार्टी में जोड़ा गया है। पाटीदार समाज से होने के कारण उनके राजनीति में प्रवेश को काफी तवज्जो मिली। 
महेश सवानी ने भी आप में जुड़ने के साथ जमीनी तौर पर सक्रियता दिखानी शुरु कर दी और लगातार पार्टी का दायरा बढ़ाने के लिये लोक संपर्क कर रहे हैं। वहीं सोशल मीडिया पर भी सक्रिय हो गये हैं और राज्य सरकार की आलचना का कोई अवसर नहीं चूक रहे। लेकिन इसी जोश में महेश सवानी एक गलती कर बैठे और इसके कारण सोशल मीडिया पर ट्रोल हो गये। 
दरअसल महेश सवानी ने अपने ट्वीटर हैंडल से बिजली के लकड़ी के खंभे की तस्वीर साझा की और कहा कि प्रदेश में चक्रवात के बाद बिजली व्यवस्था सुचारू करने के लिये प्रशासन को ऐसी व्यवस्था करनी पड़ी है और इसे गुजरात मॉडल पर सवाल उठाये। 
लेकिन ये तस्वीर गुजरात की न होकर पाकिस्मान के सिंध प्रांत की बताई गई है। फिर क्या था, महेश सवानी के खिलाफ लोग सोशल मीडिया पर लामबंद हो गये। आखिर कार उन्हें अपनी पोस्ट डिलीट करनी पड़ी। 
सवानी को ट्रोल करने वालों में से एक ने तंज कसा कि राजनीति बदलने आये थे और खंभेल बदल दिये! एक अन्य यूजर ने लिखा कि आप का एजेंडा ही गलत सूचना का प्रसार करके लोगों को भटकाना है। खैर, इंटरनेट के वर्तमान दौर में यदि सोशल मीडिया पर साझा होने वाली जानकारी की सच्चाई की परख किये बिना उसे आगे बढ़ाते हैं तो ऐसा ही हश्र होता है। महेश सवानी ही नहीं, हर व्यक्ति को सोशल मीडिया पर कुछ भी पोस्ट करने से पहले सौ बार सोचना चाहिये। 

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें