सूरत : सीनेट सदस्य के लिए सूरत महानगरपालिका से हिमांशु राउलजी ने चुनाव जीता

चुनाव जितने पर हिमांशु राऊलजी को बधाई देती महापौर हेमालीबेन बोघावाला

वीर नर्मद दक्षिण गुजरात युनिवर्सिटी में सदस्य के लिए सूरत महानगरपालिका की ओर से एक सदस्य नियुक्त करने के लिए आयोजित चुनाव में भाजपा प्रत्याशी हिमांशु राउलजी ने चुनाव जीता।

बीजेपी के 93 और आम आदमी पार्टी के 27 पार्षदों के साथ बीजेपी प्रत्याशी की जीत तय थी
दक्षिण गुजरात विश्वविद्यालय में सूरत महानगरपालिका के एक सीनेट सदस्य के लिए मंगलवार को मनपा मुख्यालय में चुनाव हुआ था। सत्तारूढ़ दल भाजपा  ने एक उम्मीदवार और विपक्ष आम आदमी पार्टी ने दो उम्मीदवारों को मैदान में उतारा। महानगरपालिका मुख्यालय के सरदार पटेल हॉल में दोपहर 2 से शाम 5 बजे के दौरान एक सीनेट सदस्यों के लिए 120 पार्षदों ने मतदान किया। मतदान प्रक्रिया पूरी होने के बाद भाजपा पार्षद हिमांशु राउलजी 93 मत प्राप्त कर विजेता घोषित किये गये। बीजेपी के 93 और आम आदमी पार्टी के 27 पार्षदों ने वोट डाला जिसमें हिमांशु राउलजी को 93 वोट मिले। पिछले महिने नगर प्राथमिक शिक्षा समिति के सदस्य के लिए चुनाव हुआ था जिसमें आम आदमी पार्टी के प्रत्याशी की हार होने से महानगरपालिका में काफी तोड़फोड़ और हंगामा हुआ था। विपक्षी सदस्यों ने पार्टी की हार के विरोध में चुनावों का बहिष्कार करने का आह्वान कर पालिका के सुरक्षाकर्मियों के साथ हाथापाई के अलावा तोड़फोड़ भी थी।
ऐसी स्थिति की पुनरावृत्ति को रोकने के लिए  मंगलवार को चुनाव से पहले पुलिस ही समग्र महानगरपालिका में कड़े बंदोबस्त कि व्यवस्था की गए थी, हालांकि शांतिपूर्ण माहौल में सेनेट सदस्य के लिए चुनाव प्रक्रिया संपन्न हुई। आम आदमी पार्टी चुनाव प्रक्रिया को रोक सकती थी, लेकिन उन्होंने चुनाव कराने पर जोर दिया। बीजेपी के 93 और आम आदमी पार्टी के 27 पार्षदों के साथ बीजेपी प्रत्याशी की जीत तय थी। एक सीट के लिए मतदान होने पर दोनों पक्षों में इतनी बड़ी संख्या का डिफरेन्स था जिससे यह स्पष्ट था कि किसकी जीत होगी। लेकिन आम आदमी पार्टी की गलत दृढ़ता के कारण चुनाव हुआ। पुरे दिन महानगरपालिका में कडे़ पुलिस बंदोबस्त को तैनात रहना पड़ा और महानगरपालिका के कर्मचार‌ियों तथा पालिका में जरूरी काम के लिए आनेवाले शहरवासियों को काफी मुश्किलों और परेशानी का सामना करना पडा। 
वीर नर्मद दक्षिण गुजरात विश्वविद्यालय के सीनेट सदस्य के रूप में महानगरपालिका के सदस्य के रुप में हिमांशु राउलजी की नियुक्त‌ि होने पर उन्होंने कहा कि छात्र दिनों से हम छात्रों के सवालों को आवाज देते रहे हैं। विश्वविद्यालय में भी वह पूर्व में कई छात्रों के प्रश्नों को हल करने में सफल रहे हैं। आज सीनेट के सदस्य के रूप में मेरी जीत के बाद मेरी जिम्मेदारी बढ़ गई है और हम आने वाले दिनों में काम करने के लिए तैयार हैं, ताकि छात्रों को किसी भी कठिनाई का सामना न करना पड़े। यह अफ़सोस की बात है कि आम आदमी पार्टी ने आज चुनाव कराकर निगम का पैसा और समय बर्बाद किया है।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें