सूरत : राजनीतिक दबाव के चलते आखिरकार द.गु. यूनिवर्सिटी के चांसलर सक्रिय हो गए

पुलिस कमिश्नर से मुलाकात कर मामले को जल्द सुलझाने का प्रयास किया

वीर नर्मद दक्षिण गुजरात विश्वविद्यालय में आयोजित नवरात्रि के दौरान छात्रों और पुलिस के बीच हाथापाई हो गई। अब धीरे-धीरे और तीव्र होता जा रहा है इस मामले को शांत करने के लिए अब वाईस चांसलेर ने पुलिस आयुक्त से बैठक की

हम त्वरित समाधान के लिए पुलिस और छात्रों के बीच बैठक करने की योजना बना रहे हैंः के.एन. चावड़ा चांसलर
वीर नर्मद दक्षिण गुजरात विश्वविद्यालय में आयोजित नवरात्रि के दौरान छात्रों और पुलिस के बीच हाथापाई हो गई। एबीवीपी द्वारा इसका विरोध अब धीरे-धीरे और तीव्र होता जा रहा है जैसा कि राज्य के अन्य विश्वविद्यालयों में देखा जाता है। वीर नर्मद दक्षिण गुजरात विश्वविद्यालय के चांसलर इस मुद्दे के त्वरित समाधान के लिए सक्रिय रूप से काम कर रहे हैं। उन्होंने सूरत के पुलिस आयुक्त कार्यालय में पुलिस आयुक्त अजय तोमर के साथ बैठक की। बीजेपी के कुछ नेताओं के दखल के बाद भी छात्र अपने फैसले पर अड़े हुए नजर आ रहे हैं। जिससे वर्तमान कुलाधिपति को इस पूरे मामले का शीघ्र समाधान करना है।
 चांसलर के. एन. चावड़ा और पुलिस आयुक्त अजय तोमर ने कुछ अहम मुद्दों पर चर्चा की। आयुक्त द्वारा सौंपी गई जांच में कुछ काम कैसे हुआ है, इसकी भी कुलाधिपति ने जानकारी हासिल की। साथ ही इस मुद्दे को जल्द से जल्द कैसे हल किया जाए, इस पर आयुक्त और कुलाधिपति के बीच व्यापक चर्चा हुई है। पुलिस की कार्रवाई को लेकर कुलाधिपति ने आयुक्त को ज्ञापन भी दिया है। चांसलर के. एन. चावड़ा ने कहा कि विश्वविद्यालय परिसर में एक दिवसीय नवरात्रि के दौरान पुलिस और छात्रों के बीच झड़प को लेकर उन्हें आज पुलिस आयुक्त से मिलना था। विद्यार्थियों के प्रश्नों पर विस्तार से चर्चा की गई। हम कोशिश कर रहे हैं कि पुलिस जांच दल और छात्रों के बीच बैठक हो ताकि अगर कोई चर्चा हो तो उसे जल्दी से सुलझाया जा सके। हम छात्र और पुलिस के बीच बैठक पर विचार कर रहे हैं।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें