सूरत : शहर की 12 विधानसभा सीटों पर कांग्रेस पर्यवेक्षकों ने 239 दावेदारों को सुना

अगले विधानसभा चुनाव में कांग्रेस द्वारा 27 साल का वनवास खत्म करने की तैयारी

कांग्रेस नेताओं ने कहा कि गुजरात मॉडल ड्रग मॉडल बन गया और बारिश में डूब गया, आम आदमी पार्टी बीजेपी की बी टीम

गुजरात विधानसभा चुनाव से पहले सूरत की 12 सीटों पर 239 कार्यकर्ता-नेताओं ने चुनाव लड़ने की तैयारी दिखाई है। इन दावेदारों को सुनने के लिए आज सूरत पहुंचे कांग्रेस निरीक्षक। कांग्रेस नेताओं ने दावेदारों की बात सुनने के साथ ही 27 साल का राजनीतिक वनवास पूरा कर सत्ता में आने की तैयारी कर ली है। उन्होंने कहा कि गुजरात मॉडल बारिश में डूब गया है और गुजरात मॉडल ड्रग्स मॉडल बन गया है। इसके अलावा आम आदमी पार्टी को बीजेपी की बी टीम बुलाकर बड़ी ताकत से चुनाव लड़ने का आह्वान किया। सूरत विधानसभा चुनाव लड़ने के इच्छुक उम्मीदवारों को सुनने के लिए निरिक्षक सूरत के ईश्वर फार्म में आए थे । दक्षिण गुजरात के कार्यकारी अध्यक्ष इंद्रविजय सिंह गोहिल, एआईसीसी बी.एम. संदीप और भरत सिंह सोलंकी कल दिन में ईश्वर फार्म पर दावेदारों की सुनवाई की प्रक्रिया शुरू करने आएं।

सूरत-पूर्व विधानसभा पर सबसे अधिक दावेदार


गुजरात विधानसभा चुनाव से पहले कांग्रेस ने सूरत की 12 सीटों से चुनाव लड़ने की कार्रवाई की थी। इस साल कांग्रेस और अधिक उत्साही हो गई है क्योंकि सूरत विधानसभा में आप तीसरी पार्टी है जो भाजपा का गढ़ तोडेगी। साथ ही सूरत पूर्व विधानसभा सीट बीजेपी के लिए इमरजेंसी सीट है और यहां से सबसे कम लीड पर भाजपा प्रत्याशी जिते थे। इसके अलावा आप फैक्टर को सीधा फायदा हो सकता है। शहर की 12 विधानसभा सीटों में से सबसे अधिक दावेदार सूरत-पूर्व विधानसभा सीट के लिए निरक्षिकों के समक्ष पेश हुए। कांग्रेस के 59 नेता और कार्यकर्ताओं ने पूर्वी विधानसभा सीट पर चुनाव लडने की तैयारी दिखाई है। जबकि सबसे कम दावेदार शहरी विकास मंत्री विनोद मोरडीया के कतारगाम विधानसभा क्षेत्र से केवल 9 है। इन दावेदारों को सुनते हुए कांग्रेस पर नजर रखने वालों ने कहा कि कांग्रेस अगला विधानसभा चुनाव जीतेगी।

चुनाव लडने दावेदारों को देखकर कांग्रेस में उत्साह


कांग्रेस पर्यवेक्षक रहे बी एम संदीप ने प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि कांग्रेस 27 साल के वनवास को पूरा करने की तैयारी कर रही है। जिसे बीजेपी गुजरात मॉडल कहती है, अब ड्रग मॉडल बन गया है। इतना ही नहीं यह मॉडल बारिश में डूबा हुआ है। पिछले विधानसभा चुनावों में कांग्रेस के पास 9 सीटें ऐसी थीं जिसे वह बहुत ही कम अंतर से हार गई थी। अब गुजरात विधानसभा नए सिरे से जीतने की कोशिश करेगी।
उन्होंने कहा कि 27 साल बाद भी बीजेपी सरकार को भरोसा नहीं है इसलिए बीजेपी कांग्रेस के विधायकों को खरीद रही है। उन्होंने कहा कि सूरत में कांग्रेस सभी 12 सीटें जीतेगी और गुजरात में भी कांग्रेस की सरकार बनेगी, जिसके बाद वह देश में भी सरकार बनाएगी। वर्तमान में आम आदमी पार्टी है, बीजेपी की बी टीम है। यह कहते हुए कि आम आदमी पार्टी से कांग्रेस को कोई नुकसान नहीं हुआ है, इससे भाजपा को ही नुकसान होगा, उन्होंने उम्मीद जताई कि कांग्रेस अगले विधानसभा चुनाव में जीतेगी।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें