सूरत : होस्पिटल के बाद स्मशान गृहों में लाइन लगी और अब डेथ सर्टिफिकेट ले लिए भी कतार

मनपा प्रशासन द्वारा लोगों की सुविधा के लिए शुरू की दो खिडकियां, लेट फीस और एफ़िडेविट की समय मर्यादा भी बढ़ाई

अब तक सूरत के अस्पतालों में कोरोना संक्रमितों के उपचार की लाइन लग रही थी। उसके बाद स्मशान घाट पर दाह विधि करने के लिए मृत देह को कतार में रखना पड़ रहा था। अब मृत्यु का सर्टिफिकेट लेने के लिए भी उतनी ही बड़ी संख्या में लोग अठवा जोन के बाहर लाइन लगाकर खड़े दिख रहे हैं। जिसके चलते एक ओर अपने परिवार जन को गंवाने का दुख और दूसरी और घंटों पर लाइनों में खड़े रहकर लोगों को फिर से वह यादें ताजा हो जाती हैं।
सूरत में कोरोना वायरस से प्रतिदिन बड़ी संख्या में लोगों की मौत हो रही है। लोगों की मौत के बाद उनके मृत्यु के सर्टिफिकेट की आवश्यकता कई स्थानों पर रहती है। जिसके चलते परिवार के सदस्य मृत्यु का सर्टिफिकेट लेने के लिए लंबी-लंबी लाइनें लगा रहे हैं। पालिका की ओर से अठवा जोन में सर्टिफिकेट के लिए दो काउंटर शुरू कर दिया गया है। जिससे कि लोगों को धूप में देर तक लाइन नहीं लगानी पड़े। जन्म-मृत्यु के नियम के अनुसार 21 दिन में जन्म या मृत्यु का रजिस्ट्रेशन करा देना होता है। हालांकि पालिका ने 1 मार्च से 30 जून तक जन्म या मृत्यु के रजिस्ट्रेशन में विलंब होगा तो शहर की वर्तमान स्थिति को देखते हुए लेट फीस और एफिडेविट से छूट दी है।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें