सूरत : बोम्बे मार्केेट से 1.22 करोड़ की ठगी मामले में फरार पिता-पुत्र गिरफ्तार

पिता-पुत्र पर लूट का आरोप

सूरत से दुकान बंद कर फरार होकर वतन से भागे पिता-पुत्र खेतिहर मजदूर बन गए, फोटो अपलोड करने पर पता चला

वराछा के पुरानी बोम्बे मार्केट में कपड़े की दुकान खोलकर 1.22 करोड़ का गबन कर भागे पिता-पुत्र ने भावनगर गांव में गरीब बनकर दूसरे की वाडी में खेतिहर मजदूर के रूप में काम करने लगे। हालांकि, बेटे ने वाडी में एक कार्यक्रम में फोटो खींच ली और उस अपलोड किया, जिसके आधार पर क्राइम ब्रांच ने दोनों को गिरफ्तार कर लिया।

सौराष्ट्र भाग जाने और गरीब बनने की कोशिश की


पिता का नाम भरत बाबू कटारिया (45) और बेटे का नाम अक्षित उर्फ ​​कानो (23) है। दोनों महुवा भावनगर के रहने वाले हैं और सूरत के पुना सीतानगर चौक के पास लक्ष्मीनगर सोसाइटी में रहते हैं। वह पुरानी बोम्बे मार्केट में दुर्गा एनएक्स के नाम से कारोबार कर रहे थे।

लेकिन जब बेटे ने फोटो अपलोड की तो पता चल गया


कपोद्रा के व्यवसायी चिराग पंचानी से वर्ष 2019-20 में 47.77 लाख और कतारगाम जीआईडीसी में कढ़ाई करने वाले राजेश डोबरिया से 75.06 लाख का माल उधार लिया गया था। दूसरे व्यापारियों से करोड़ों का माल उधार लेकर बारो-बार बेचकर घर छोड़ कर फरार हो गए थे।

दिल्ली से आए पिता-पुत्र ने 91.92 लाख का कपड़ा लेकर हाथ खड़े किए


दिल्ली के एक बाप-बेटे ने सूरत के एक व्यापारी से 91.92 लाख कपड़ा उधार लिया और कपड़े का सामान अफगानिस्तान, पाकिस्तान और दुबई में सप्लाई करने की बात कहकर फरार हो गए। साथ ही 3 से 4 अन्य व्यापारियों के साथ भी ठगी की। जो एक करोड़ से अधिक होने की संभावना है। दिल्ली के कारोबारी प्रतापसिंह और निरपालसिंह ने वेसू के कपड़ा व्यापारी अभिषेक बत्रा से दलाल सवेंद्रसिंह के जरिए उधार 91.92 लाख का कपड़ा उधार लिया और दिल्ली भाग गए।

55 लाख के कपड़े पर जान से मारने की धमकी दी


रिंग रोड मेट्रो टावर में टेक्सटाइल का काम करने वाले आशीष जैन से व्यापारी दिनेश पटेल ने दलाल के जरिए 55 लाख का ग्रे क्रेडिट लिया। व्यवसायी ने जान से मारने की धमकी दी। इसलिए आशीष ने शिकायत की कि पुलिस ने दिनेश पटेल (निवास, कोरल हाइट्स, अलथान) और दलाल हितेश अग्रवाल (वैभव अपार्ट, सिटीलाइट) के खिलाफ धोखाधड़ी का मामला दर्ज किया है.

मुंबई का कारोबारी 23.70 लाख का कपड़ा लेकर फरार हो गया


उधना में मगदल्ला रोड पर रूपल इंडस्ट्रीज में ग्रे-क्लॉथ व्यवसाय करने वाले दीप जरीवाला ने 2021 में मुंबई के व्यवसायी भरत अहीर को 23.70 लाख का कपड़ा सामान क्रेडिट पर लिया। आरोपी भरत ढिला (अहीर) मुंबई में ख़ुशी इंपेक्षा का मालिक है और मुंबई में महत्रेचल जेल के पास एसवी रोड बोरीवली और अंधेरी में वर्सोवा में उसके कार्यालय हैं।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें