सूरत : अभयम टीम ने करवाया बुजुर्ग महिला का परिवार से पुनर्मिलन

होली के दिन हुआ था झगड़ा तो छोड़ दिया घर, अभयम टीम ने बहू-बेटे को समझाया

आए दिन शादी के बाद सास और बहू के बीच कहासुनी की तकलीफ सामने आती रहती है। हालांकि कई बार यह कहासुनी काफी ज्यादा बढ़ जाती है, जिसके चलते घर में फुट पड़ती है। कुछ ऐसा ही हुआ, सूरत के डिंडोली इलाके में जहां एक बुजुर्ग महिला अपनी बहू के साथ हो रही रोज-रोज की कहासुनी से तंग आकर घर छोडकर निकल गई थी।  
सूरत डिंडोली इलाके से एक अंजान इंसान ने 181 अभयम महिला हेल्पलाइन में फोन कर के एक अंजान बुजुर्ग महिला पिछले कुछ दिन से यहाँ घूम रही है ऐसी बात कही थी। जिसके बाद कतारगाम पुलिस स्टेशन ने बुजुर्ग महिला की मदद करने के उद्देश्य से उनके साथ बातचीत कर उनके घर का पता लिया था और उन्हें घर पहुंचाया था। प्राप्त जानकारी के अनुसार, 72 वर्षीय रेखाबा (बदला हुआ नाम) ने अपने पति की मृत्यु के बाद मेहनत कर अपने बेटे को पढ़ाया था। इसके बाद अपने बेटे की शादी करवाकर उन्होंने अपनी बाकी की जिंदगी शांतिपूर्वक अपने बेटे और बहू के साथ बिताने का विचार किया था। 
शादी के बाद कुछ दिनों तक तो बहू ने अपनी सास की खूब सेवा की, पर कुछ दिनों के बाद बहू को घर में सास का होना खटकने लगा। बहू आए दिन अपनी सास से झगड़ने लगी और उसका ख्याल भी नहीं रखती थी। इसके अलावा पति के आने पर अपनी सास की शिकायत भी करती थी। पर बहू-बेटे के साथ रहने की चाहत के कारण वह सब कुछ सह रही थी। 
होली के दिन भी बहू ने अपनी सास के साथ काफी झगड़ा किया। रोज रोज के झगड़ों से तंग आकर रेखाबा घर से निकल गए। काफी देर तक जब माँ घर नहीं आई तो बेटे ने भी पुलिस में शिकायत दर्ज करवाकर घर पर गया था। अभयम की टीम ने बहू और बेटे को सख्त भाषा में रेखाबा का ख्याल रखने कहा और यदि दोबारा ऐसी कोई घटना हुई तो सीनियर सिटीजन एक्ट के तहत केस दर्ज करने की धमकी भी दी थी। जिसके बाद दोनों ने अपनी गलती स्वीकार कर के माँ का ख्याल रखने का आश्वासन दिया था। 

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें